प्रेम मिलन और जीत की तारीख बताने वो आ रहा भूलकर भी इग्नोर ना करे - Kabrau Mogal Dham

प्रेम मिलन और जीत की तारीख बताने वो आ रहा भूलकर भी इग्नोर ना करे

मेरे प्रिय बच्चे आज मैं तुम्हें तुम्हारे

जीवन के बारे में एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण

बात बताने आया

हूं वास्तविकता में इसे जानने के बाद तुम

खुशी से झूम

उठोगे मेरे बच्चे मैं जानता हूं कि

तुम्हें मुझ पर विश्वास है और तुम अपना

विश्वास हर बार प्रदर्शित भी करते

हो और इस विश्वास को और पुख्ता करने के

लिए तुम अभी संदेश को लाइक

करो ऐसा करने से तुम्हारा विश्वास और भी

ज्यादा मजबूत प्रदर्शित

होगा मेरे बच्चे जो मैं तुम्हें बताने

वाला हूं यह तुम्हारे जीवन के लिए अत्यंत

आवश्यक

है इसे जानना तुम्हारे लिए जरूरी है और

यही वजह है कि तुम्हें इस संदेश को पूरा

अंत तक सुनना

है चाहे परिस्थिति कैसी भी हो तुम इसे बीच

में छोड़कर जाने की भूल ना

करना मेरे प्रिय तुम्हारे ऊपर मेरी कृपा

बरस रही

है अब इस कृपा के पात्र ना केवल तुम अकेले

हो ग बल्कि तुम्हारा पूरा परिवार मेरे

आशीर्वाद से खुशनुमा हो

जाएगा और यह आशीर्वाद तुम सब पर सदा

सर्वदा के लिए बना

रहेगा शुरुआत से लेकर अभी तक तुम्हारा जो

जीवन बीता है उसमें तुम इस बात के हकदार

रहे

हो और यह जीत तुम्हें बहुत पहले मिल जा

चाहिए थी लेकिन किन्ही कारणों से तुम्हारे

जीवन में बहुत सी बाधाएं उत्पन्न होती रही

है पिछले दो महीने तुम्हारे जीवन में बहुत

महत्त्वपूर्ण और चुनौतियों से घिरे रहे

हैं इस समय तुम्हारे ऊपर और तुम्हारे

परिवार के ऊपर प्रचुर आशीर्वाद की वर्षा

भी की गई

है चकि इन छड़ों में तुम्हें इसकी सबसे

ज्यादा आवश्यकता आन पड़ी

है मेरे प्रिय आज जबकि मैं यह देख पाता

हूं कि तुम्हारा मेरे प्रति विश्वास प्रग

हो चला

है भले ही तुम्हारी छवि ऐसी है तुम्हारा

मन ऐसा है जो बार-बार इसे

झुझार बार तुम्हारे भीतर नकारात्मकता भी

पैदा करता

है बावजूद इसके मैं जानता हूं कि तुम्हारा

यह हृदय सच्चाई को जानने के प्रति इच्छुक

है जिज्ञासु है यह जानने के लिए कि तुम

वास्तव में कौन हो तुम्हारा वक्ति काम में

संसार में क्या उद्देश्य

है और तुम इस संसार को भलाई के मार्ग पर

ले जाने के लिए कौन-कौन से कार्य संपादित

कर सकते

हो मेरे प्रिय तुम्हें अपने होने की और

जीत को अग्रसर करने की पुष्टि निरंतर करती

रहनी

होगी इसके लिए तुम्हें संख्या लिखकर

यह जाहिर करना है कि तुम इस समय स्वीकार

करने के योग में आ चुके

हो और इसी तरह से तुम आने वाले समय को

अपने पक्ष में कार्य करने के लिए भी जोड़

दोगे तुम्हारे जीवन में नक्षत्रों का एक

ऐसा योग बन रहा है जो तुम्हें वह सब हासिल

कराने के लिए पर्याप्त

होगा जो प्राप्त करते ही तुम्हारा जीवन

सकारात्मक रुख मोड़

लेगा जो हासिल करते ही तुम्हारे भीतर

आत्मविश्वास की एक नई तरंगे संचारित हो

उठेगी

इसे मिलने के बाद तुम्हारा मन खुशी से

अभिभूत हो उठेगा मैं यह नहीं कह रहा कि

तुम्हारे जीवन में नई चुनौतियां नहीं

आएंगी निश्चित तौर पर आएगी अभी आगे बहुत

सी चुनौतियां तुम्हारे जीवन में आने वाली

है लेकिन यह तय बात है कि तुम अब आने वाली

इन चुनौतियों से कभी भी नहीं घबराओ

ग क्योंकि यह चुनौतियां तुम्हें बहुत ही

तुच्छ और मामूली जान पड़ेंगी

मेरे प्रिय तुम्हारी आत्मा ऐसी है जो सबका

दुख भी सुनना चाहती

है और सबके दुख को दूर भी करना चाहती है

तुम कभी भी यह सोचकर किसी का भला नहीं

करते

हो कि उसके बदले में वह तुम्हें कुछ लाभ

प्रदान करें तुम तो किसी अंजाम व्यक्ति की

भी वैसे ही सहायता करते

हो उसका दर्द भी वैसे ही सुनते हो जैसे

किसी अपने की की सहायता में तुम आगे आते

हो लेकिन यह तय है कि तुम प्राथमिकता पर

यह तय करते हो कि किसकी सहायता तुम्हें

सर्वप्रथम करनी

है और किसकी सहायता बाद में कई बार इस वजह

से लोग तुमसे रुष्ट भी हो जाया करते हैं

तुमसे नाराज की जाहिर करते

हैं लेकिन तुम अपने मन में अपने संसार की

छवि बना चुके

हो और इस वजह से तुम्हें पता है कि

तुम्हारी प्राथमिकता क्या है और कौन

है मेरे प्रिय हालांकि तुम सभी की सहायता

सच्चे हृदय से करना चाहते

हो लेकिन कई बार ऐसा हुआ है कि तुमने

अपनों की बहुत सहायता की

है उनके लिए सदा आगे आए हो और जबजब

उन्होंने तुमसे मदद की गुहार लगाई

है तुम पीछे नहीं हटे हो और जब तुम्हें

मदद की आवश्यकता पड़ी तो किसी ने भी आगे

आकर तुम्हारी सहायता नहीं

की मेरे प्रिय तुम भी लोगों के सामने

सहायता की मांग करने से झकते हो तुम उनसे

आगे आकर के सहायता की मांग नहीं कर पाते

हो तुम उनकी सहायता तो करना चाहते हो

किंतु उनसे मदद नहीं मांग पाते हो और कई

बार लोगों ने तुम्हें कष्ट में देखने के

बावजूद

भी वहां सहायता के लिए आगे नहीं आए जबकि

उन्हें जब भी तुम्हारी जरूरत थी तुम उनके

लिए सदा ही खड़े होते गए उनके कष्ट में

तुमने अपनी परेशानी नहीं

देखी लेकिन जब तुम परेशान हुए तो वह

तुम्हारी सहायता करने के बजाय तुम्हें और

भी ज्यादा प्रताड़ित करने की योजनाओं में

लग गए कई बार तुम्हारे अपने ही तुम्हारे

शत्रु बनाते चले

गए वह अपने जो कहने के लिए तो तुम्हारे

अपने हैं लेकिन तुम्हारे पीठ पीछे ना जाने

कितने षड्यंत्र रचते हैं ताकि तुम प्रगति

को प्राप्त ना कर

सको कई बार जब तुम्हारी गलती भी नहीं होती

तुम्हारी भूल भी नहीं होती उन्होंने

तुम्हारे ऊपर इल्जाम लगाकर तुम्हें ही

दोषी साबित कर दिया मेरे

प्रिय लेकिन तुम एक बात सदा याद रखो किसी

ने तुम्हारे साथ भले ही गलत किया हो या

भले ही तुम्हारी सहायता ना की हो तुम्हें

किसी से नाराज नहीं होना है किसी के प्रति

रुष्ट नहीं होना

है किसी से कोई उम्मीद भी नहीं लगानी है

तुम्हारी सारी उम्मीदें मुझे से होनी

चाहिए और इस तरह की चुनौतियों का सामना

तुमने अपने जीवन में किया है वह कोई

सामान्य बात नहीं

है वास्तव में वह अति प्रशंसनीय है

सराहनीय है और इसी वजह से ना केवल मैं

बल्कि बहुत से अनोखे दिव्य देवदूत बहुत से

फरिश्ते तुम्हारे बहुत से पूर्वज तुम पर

गर्व करते

हैं तुम पर फक्र करते हैं और वह निरंतर यह

चाहते हैं कि किसी ना किसी रूप में वह

तुम्हारी सहायता करें तुम्हारे पूर्वज

निरंतर यह चाहते हैं कि वह दिव्य लोक से

तुम्हारी सहायता

करें वह यह चाहते हैं कि तुम उनके वंश के

सबसे ज्यादा रोशन करने वाले सबसे

ज्वालामुखी और सबसे प्रज्वलित प्रगतिशील

मनुष्य

बनो इसी वजह से वह सदैव तुम्हारी सहायता

को भी आतुर रहते हैं तुम्हें वह प्रतिभा

भी है वह गुण विद्यमान है कि तुम जीत को

आसानी से अपनी ओर हासिल कर

सको मेरे प्रिय प्रेम के मामले में भी

तुमने अपने जीवन में बहुत निराशा देखी है

जिस तरह का जीवन तुम चाहते आए हो वैसा

जीवन तुम्हें हासिल नहीं

हुआ लेकिन उसी रूप रेखा में ढला हुआ यह

जीवन तुम्हारा गतिशील हो रहा है जब तुम

गौर से इसका आकलन करोगे तो तुम यह जान

पाओगे कि यह तुम्हा सोच से ज्यादा भिन्न

नहीं है लंबे समय से तुम जो सोचते आए हो

उसमें तुम बदलाव करते आए

हो एक निश्चित समय काल के बाद तुम्हारे

विचार तुम्हारी चाहत तुम्हारी इच्छाएं

तुम्हारी कामनाएं सब बदल जाती

है और इस वजह से मेरे प्रिय बच्चे तुम कई

बार यह तय नहीं कर पाते कि वास्तविक रूप

में तुम्हें क्या कैसे कब

चाहिए क्योंकि एक निश्चित समय कालीन के

बाद यह विचार बदल जाते हैं प्रेम के मामले

में तुमने विभिन्न प्रकार की असफलताएं

देखी

हैं लेकिन अब असफलताओं का समय नहीं है अब

समय आ गया है कि तुम सभी तरह की सफलता को

अपने जीवन में आकर्षित

करो यह वही समय है जब तुम पर धन की असीम

वर्षा होगी जब तुम्हारे लिए नए नए मार्ग

बनेंगे तब पुराने सभी बाधा अपने आप समाप्त

हो जाएंगे

जब तुम्हारे मस्तिष्क से चिंताओं का बोझ

उतर जाएगा जब तुम्हें यह एहसास होगा कि

तुम कितने अमूल्य हो और तुम्हारा अमूल्य

लगने वाला इस संसार में कोई भी नहीं

है क्योंकि स्वयं तुमको परमात्मा द्वारा

संरक्षण प्राप्त है तुम वह योद्धा हो

जिसके जीवन में जीत पहले से ही तय है केवल

यह उसकी परीक्षा

है जिसके अंत में जीत तो मिलना ही है

लेकिन यह परीक्षा उसके चरित्र के विकास के

लिए है और एक बार जब उसका चरित्र शुद्ध

रूप से विकसित हो

जाएगा तब वह उन सब चीजों को प्राप्त कर

लेगा जो प्राप्त करना एक सामान्य मनुष्य

के लिए बहुत ही मुश्किल बात है वह सभी

मनुष्य तुम्हारी श्रेणी के मनुष्य है ही

नहीं लेकिन तुम निरंतर उनसे अपनी तुलना

करके स्वयं को ही कमजोर कर बैठते हो यह

तुम्हारे लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है

ऐसा करके तुम अपनी ही हानि करते हो

मेरे प्रिय तुम्हें यदि पर्वत सा विशाल

बनना है चट्टान शरीक मौजूद बनना है और

बादलों के समान कोमल भी होना

है तो तुम्हारे लिए इस परीक्षा के बाद ही

तुम उस कली से पुष्प बनोगे एक ऐसा पुष्प

जो चारों ओर महकता है जो अपने सौंदर्य को

चारों ओर फैलाता

है अपने सुगंध से सभी का मन मोह लेता है

और अंततः परमात्मा के चरणों में विसर्जित

हो जाता है तुम वही हो तुम्हारी तुलना

किसी अन्य से की ही नहीं जा

सकती तुम्हें जो गुण मिला हुआ है जिस तरह

का जीवन मिला हुआ है वह अभूतपूर्व है तुम

अपनी तुलना करके अपने आप को बिल्कुल भी

कमजोर मत

मानो मेरे प्रिय तुम्हारी जीत बहुत तेजी

से तुम्हारी तरफ आ चली है इसे स्वीकार करो

तुम यह जान नहीं पा रहे लेकिन वास्तव में

तुम्हारा मन अभी भय ग्रस्त है यह भय से

चारों ओर से घिरा हुआ है और मैं चाहता हूं

कि तुम अपने मन से इस भय का त्याग कर दो

क्योंकि यह भय ही है जो तुम्हें आगे बढ़ने

से रोक रहा

है यह भय ही है जो तुम्हें प्रगति करने से

रोक रहा है मेरे प्रिय यह भय तुम्हारे मन

मस्तिष्क पर हावी हो जाता है और तब तुम

लोगों के समक्ष अपनी बातें स्पष्ट रूप से

नहीं रख

पाते भविष्य की चिंता क्यों करते हो तुम

किसी के गुलामी करके मत जियो खुलकर अपना

जीव जियो जो तुम्हारे मन में आए वह करो

स्वभाव के साथ

जियो किंतु इसका यह मतलब नहीं कि अपने मन

के भी गुलाम हो जाओ तुम्हें अपने मन को भी

नियंत्रण में रखना है तुम्हें किसी की भी

दास्ता में नहीं बंधना

है ना अपने मन के ना किसी और मनुष्य के

तुम इन चीजों से स्वतंत्र होकर अपना जीवन

जियो और तब तुम एक संपूर्ण जीवन जी

पाओगे मेरे प्रिय बच्चे मैं सदा तुम्हारे

साथ हूं इस बात को कभी भी मत भूलना आने

वाले समय में भी मैं तुमसे दूर नहीं

जाऊंगा तुम्हारे पास ही

रहूंगा किसी ना किसी रूप में तुम्हें अपना

आशीष प्रदान करता रहूंगा मेरे प्रिय तुम

इस संसार में जो बांटते हो वही हासिल करते

हो इसलिए तुम क्या दे रहे हो क्या जाहिर

कर रहे हो इसे कभी मत भूलना मैं तुम्हें

हर जगह दिखाई दूंगा अभी भी तुम गौर करोगे

तो मेरी तुम्हारे सामने ही थी कहीं दूर

नहीं

थी इसलिए अपने मन के भीतर उतरना प्रारंभ

करो गहराई से देखो मैं हर स्थान पर हर चीज

में तुम्हें नजर आऊंगा मैं विभिन्न रूपों

में तुम्हारे समक्ष आता

हूं तुम्हारी गतिविधियों का आकलन करने के

लिए क्योंकि मैं ही तुम्हारा रचता हूं और

मैं जानता हूं तुम्हारे लिए क्या सही है

क्या गलत है तुम भले ही सही चुनाव ना कर

पाओ किंतु मैं गलत चुनाव नहीं करता मेरे

प्रिय एक बात याद रखो इस संसार में भले ही

हर कोई तुम्हारा विरोध करे किंतु मैं कभी

तुम्हारे विरोध में नहीं

होंगा मैं तुम्हें कभी अकेला नहीं होने

दूंगा चाहे कितनी ही ताकत कितनी ही

शक्तियां तुम्हें हराने को तत्पर क्यों ना

हो जाए मैं तब भी तुम्हारा साथ नहीं

छोडूंगा आने वाली तारीख तुम्हारे जीवन

में बहुत महत्त्वपूर्ण होने वाली है इस

दिन तुम अपने जी वन में बहुत बड़े-बड़े

बदलाव को महसूस कर

पाओगे मेरे प्रिय सदा याद रखना मेरा

आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है सदा सुखी

रहो तुम्हारा कल्याण हो तुम्हारी प्रगति

होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *