दुर्गा मां उसे एक भयानक दंड प्राप्त होगा - Kabrau Mogal Dham

दुर्गा मां उसे एक भयानक दंड प्राप्त होगा

मेरे बच्चों मैं दुर्गा मां तुम्हें एक

बात बताने आज इस धरती लोक पर आने के लिए

विवश हो चुकी हूं तुसे कुछ बात जानना

चाहती हूं जिसके लिए तुम्हें आज इस संदेश

को अंत तक सुनना

होगा क्योंकि वह तुम्हारे जीवन से जुड़ा

हुआ है और यदि तुमने मेरे संदेश को नहीं

सुना तो तुम्हारे जीवन में कल्याण नहीं हो

पाएगा इसलिए मुझे आज अवश्य

सुनना ने मुझे जीवन में कई बार अनदेखा

किया परंतु आज मैं नहीं चाहती कि तुम मुझे

अनदेखा करो क्योंकि तुम्हारी सारी

परेशानियों का समाधान मेरे पास है बस

तुम्हें मुझे कुछ समय देना होगा यदि तुम

मुझसे प्रेम करते हो हो तुम मुझे अपना आज

समय दोगे तुम्हारे समय से मैं तुम्हारे

जीवन की सारी परेशानियों को समाप्त कर

दूंगी क्योंकि तुम मेरे प्रिय भक्त हो और

मैं तुम्हें ऐसे दुखों में नहीं देख

सकती मेरे अनेकों रूप हैं लेकिन उन रूपों

में से एक रूप मेरा न्याय करने का भी है

दूसरा रूप मेरा रूद्र रूप है

उसी प्रकार तुम्हारे भीतर भी दो प्रकार के

मनुष्य हैं एक तुम्हारे अंदर वह मनुष्य जो

सदा अच्छाई की राह पर चलता है और दूसरों

का भला करता

है प्रकार दूसरा मनुष्य तुम्हारे अंदर वह

रौद्र रूप का है जो गलत होते हुए देख लो

तो तुम उन चीजों को ठीक करने के लिए कुछ

भी कर सकते हो लेकिन मेरे बच्चों अपने

भीतर शायद तुम किसी भी रूप को रखो लेकिन

हमेशा दूसरों का कल्याण

करो शय अपने कर्मों की करनी भरता है वह

जैसे कर्म करता है उसका परिणाम वैसा ही

होता है किंतु ईश्वर सदा अपने बच्चों को

हर गलत मार्ग पर जाने के लिए रोकते हैं जो

बच्चे उनके बताए गए मार्ग पर चलता है वह

बुरे कर्मों से बचता है किंतु जो बच्चा

अपने ईश्वर की बातों को ना मानकर स्वयं के

मन की करता है वह उस समय के लिए खुश हो

जाता है किंतु आने वाले समय में जीवन भर

रोता

हैन का मन होता है कि वह अपने जीवन में सब

कुछ हासिल कर सके अपने प्रेम को पाए अपने

माता-पिता के सारे दुखों को दूर करें

किंतु उनका दुख दूर करने के लिए वह कठिन

परिश्रम नहीं करता एक बार प्रयास करने के

बाद ही सफलता नहीं मिलती तो वह प्रयास

करना ही छोड़ ड़ देता है जो कि गलत है

परिश्रम करोगे तो तुम्हारे जीवन में

खुशियां जल्दी आएंगी बस तुम्हें संदेश को

अंत तक पूरा सुनना

है मेरे बच्चे मेरे आशीर्वाद से तुम्हारा

जीवन खुशियों से भरा

रहेगा मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद पाने के

लिए बस तुम्हें इस संदेश को अंत तक पूरा

सुनना

है संदेश तुम्हारे जीवन को बदलकर रख देगा

यह बहुत ही महत्त्वपूर्ण संदेश है इसे

बीजम छोड़कर जाने की गलती मत करना इस

संदेश में आया हुआ एक-एक विचार एक-एक शब्द

तुम्हारे जीवन के दुखों को सुखों में

बदलने की शक्ति रखता

है आज इस संदेश की शुरुआत में ही मैं

तुम्हें अपना आशीर्वाद दे रही हूं कि आज

के दिन यदि तुम इसे सुनते हो तो आज का

पूरा दिन तुम्हारा आनंद के साथ व्यतीत

होगा तुम्हारे जीवन में किसी प्रकार की

कमी नहीं रहेगी बस तुम्हें इस संदेश को

पूरे मन के साथ सुनना

[संगीत]

है आज मैं तुम्हें एक ऐसा उपहार दूंगी

जिसे पाकर तुम बहुत खुश हो जाओगे बस क्षण

भर की देरी है यह संदेश तुम्हारे तक पहुंच

चुका है और अब तुम्हें इसे ध्यानपूर्वक

सुनना

है तुम्हें किसी परिस्थिति में घबराना

नहीं है क्योंकि तुम्हारी माता तुम्हारे

साथ है और तुम्हारे जीवन के दुखों को अब

वह अपने साथ हर कर ले जाएंगी लेकिन

तुम्हें जीवन की हर कठिनाई को स्वीकार

करने की शक्ति अपने ही अंदर से लानी होगी

क्योंकि वह तो तुम्हारे जीवन के लिए बहुत

महत्त्वपूर्ण

है इस जीवन की यात्रा में सत्य ज्ञान और

सहानुभूति के साथ चलो जब भी आपके जीवन में

कठिनाई आए तो बस धैर्य बनाए रखो सच्चाई के

मार्ग पर चलना ही तुम्हारे जीवन की असली

पूजा

है लक्ष्मी माता कहती हैं कि मेरे बच्चे

जिसने अपने जीवन में सत्य संयम धैर्य और

भक्ति युक्त जीवन जिया है उसके जीवन में

कोई भी कार्य करना असंभव नहीं

है साहस और संपन्नता से अपना जीवन जीते

रहो कभी भी हार मत मानो क्योंकि जीवन का

असली उद्देश्य तुम्हारा दूसरों की सहायता

करना है गरीबों की मदद करना है और अपने

माता पिता की सेवा करना

है मेरे प्यारे भक्तों आज का दिन तुम्हारी

माता का सबसे प्यारा दिन है मैं अपने

भक्तों के जीवन में सदा ही खुशी और आनंद

देने के लिए जानी जाती हूं यदि दुर्गा मां

किसी व्यक्ति प्रसन्न होकर उस पर अपनी

कृपा कर देती हैं तो उस व्यक्ति के सदा ही

धन यश वैभव एवं अपार खुशियों का भंडार लग

जाता

है माता दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए

आपको आज मेरे द्वारा बताए गए इस संदेश को

पूरा सुनना होगा इस संदेश को सुनकर यदि आप

उन बातों पर अमल करती हैं तो माता आपसे

खुद ही प्रसन्न हो जाएंगी और आपका संपूर्ण

जीवन खुशियों से भर

जाएगा यह संदेश जितना महत्त्वपूर्ण है

उतना ही इसके लाभ भी है इस संदेश को यदि

आप ध्यान से एक बार भी सुन लेंगे तो माता

आपसे हमेशा के लिए प्रसन्न हो जाएंगी

और आपके दुखों को हर कर ले जाएंगी यदि

किसी कारण वश आप इस संदेश को पूरा सुनने

में आज असमर्थ हैं तो आप अपने फोन में

चलाकर इसे रख दीजिए और अपना कार्य करते

हुए भी इस संदेश को सुनते

जाइए यदि आपको लगता है कि आप इस संदेश को

सुनती हैं लेकिन उस पर अमल नहीं करते हैं

तब माता का आशीर्वाद आपको प्राप्त नहीं

होगा क्योंकि माता चाहती हैं कि आप उनके

संदेश को सुनकर उन्हें अपने जीवन में

अपनाएं ताकि आपका जीवन पूर्णत बदल

सके माता कहती हैं कि तुम्हारे कष्ट जो

तुम्हारे जीवन में सदा ही कांटे की तरह

रहते हैं सभी कष्ट का निवारण तुम्हारे पास

ही है किंतु तुम अपने आप को पहचान नहीं पा

रहे

हो और जब तक तुम स्वयं को नहीं पहचान

पाओगे तब तक अपने जीवन में आगे नहीं बढ़

पाओगे आज का मेरा यह संदेश तुम्हारे जीवन

को सभी कांटों को तुम्हारी दुनिया से

निकालकर फेंक दे

यदि तुम इस संदेश को सुन रहे हो तो इसे

बीच में छोड़कर मत जाना मैं तुम्हें जो

ज्ञान की बातें बताने जा रही हूं उससे

तुम्हारे सारे दुख दूर हो जाएंगे लेकिन

यदि तुमने इस संदेश को बीच में छोड़ दिया

तो तुम्हारे जीवन में जो वास्तविक दुख चल

रहे हैं उनसे तुम्हें मुक्ति मिलना

मुश्किल

है

मैं वह दिव्य ज्योति हूं जो किसी के

अंधेरे जीवन में उजाला ला सकती हूं यदि

तुम्हारे जीवन में अभी खुशियां नहीं है तो

मेरे आशीर्वाद से तुम्हारे जीवन में

खुशियां आ

जाएंगी उसके लिए तुम्हें अपने जीवन में

अच्छे कर्मों को करना

होगा मेरे आशीर्वाद के साथ आगे बढ़ो जीवन

में खुश रहो स्वस्थ रहो तुम्हारा दिन मंगल

मैं

[संगीत]

हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *