तुम्हारे पूर्वज तुम्हारी माता को दोष दे रहे urgent?️ message for YOU maa want to send you a msg - Kabrau Mogal Dham

तुम्हारे पूर्वज तुम्हारी माता को दोष दे रहे urgent?️ message for YOU maa want to send you a msg

मेरे बच्चे किसी ने तुम्हारे साथ अन्याय

किया है तुम्हें मानसिक या शारीरिक

प्रतारक दंड मिलेगा वह दूसरों के साथ

कितना भी अच्छा व्यवहार क्यों ना कर ले

परंतु जिसके मन में मैल होता है वह कभी भी

तुम्हारी अच्छी नियत को नहीं देख पाता बस

यह सोचता है कि किस कार्य में भी तुम्हारा

कोई हित छुपा हुआ है वह किए गए अच्छे

कार्यों के प्रति तुम्हारे मन को पहचान

नहीं पाते तुम्हारे साथ अन्याय करने की

सीमा बहुत ज्यादा बढ़ चुकी है और तुम भी

अब उसके अन्याय को बर्दाश्त करते करते थक

चुके हो मगर यह पीड़ा तुम्हें और बर्दाश्त

करने की जरूरत नहीं है अब इसका प्रतिकार

किया जाएगा मेरे बच्चे मैं सब देख रही हूं

हर एक व्यक्ति को उसके कर्मों का फल अवश्य

देती हूं मेरी न्याय प्रक्रिया में भले ही

देर क्यों ना हो परंतु मैं किसी को नहीं

छोड़ती हूं मैं उन सभी पापियों को दंड

दूंगी इंसान चाहे किसी के साथ कितना भी

अन्याय कर ले

लेकिन मैं उनके कर्मों का फल उन्हें अवश्य

देती हूं वह अच्छे कर्म करें तो मैं

उन्हें अच्छे कर्मों का फल देती हूं और

अगर कोई किसी के खिलाफ षड्यंत्र या बुरी

भावना रखकर कोई कार्य करे तो मैं उसे उसके

कर्मों का फल अवश्य देती हूं किंतु मेरे

बच्चे तुम्हें चिंता करने की कोई भी

आवश्यकता नहीं है मेरे बच्चे तुम अपने

स्तर पर उग्र मत हो जाना और खुद से कोई

गलत कदम मत उठाना यह ध्यान रखो कि अन्याय

के खिलाफ बोलने में कोई भी आपत्ति नहीं

होती है परंतु खुद से कोई गलत कदम नहीं

उठाना क्योंकि यह ठीक नहीं है अगर तुम

अन्याय के खिलाफ नहीं बोलते हो तो लोग

तुम्हें कमजोर समझने लगेंगे और फिर

तुम्हारे साथ और भी अन्याय करते रहेंगे

किंतु तुम्हें अब चिंता करने की आवश्यकता

नहीं है मेरे बच्चे मेरे भक्त हो तुम मेरे

बच्चे तुम्हारी रक्षा मैं स्वयं करूंगी

लेकिन तुम मुझे एक वादा दो कि लोगों के

अन्याय से जरूरी नहीं बल्कि अन्याय के

खिलाफ आवाज उठाना जरूरी है और किसी कमजोर

व्यक्ति पर भी कोई अन्याय कर रहा है तो

उसकी सहायता तुम अवश्य करोगे मेरे बच्चे

मैं सदैव तुम्हारे साथ हूं मेरे बच्चे आज

रात से ही उसकी जानने की शुरुआत होती है

जिसने भी भयानक रात में आपको परेशान कर

रखा था आपकी वर्षों की तपस्या को जो

कठिनाइयों से भंग कर रहा था यदि आप अभी तक

इस संदेश को देख पा रहे हैं तो अगले तीन

दिनों में आपको धन की प्राप्ति होगी इस

संदेश को यदि आप पढ़ रहे हैं यह कोई सहयोग

नहीं है मैंने स्वयं आपको चुना है ताकि

तुम्हें मैं बता सकूं कि तुम अपने जीवन के

एक नए चरण पर पहुंचने वाले हो मैंने

तुम्हारे लिए कुछ विशेष योजनाएं बनाई है

योजना से तुम्हारे सपने पूरे हो जाएंगे

मेरे बच्चे यह स स्मरण रखो कि रात्रि अधिर

काली हो जाती है तो इसका यह मतलब होता है

कि सवेरा निकट है उसी तरह तुम्हें ऐसा

लगता है कि तुम्हारे जीवन में तुमने सदय

बुरा ही समय देखा है तो तुम्हें इस बात का

भी पता होना चाहिए कि अच्छा समय नजदीक है

आज तुम सिर्फ और सिर्फ अपने कर्मों से ही

पुण्य कमा रहे हो जिस तरह खाली बर्तन

देखने से भोजन प्राप्त नहीं होता उसी तरह

खाली बैठने से कोई भी पुण्य नहीं कमा सकता

पुण्य कमाने के लिए तुम्हें अच्छे कर्मों

का चयन करना होता है किसी मंजिल तक

पहुंचने के लिए तुम्हें उस मंजिल पर चढ़ना

होता है तभी तुम उस यात्रा को तय कर पाते

हो जीत उसी की होती है जिसके हौसले में

उड़ान होती है यह वाक्य सिर्फ कहने के लिए

नहीं है इसमें सच्चाई भरी हुई है तुम आज

अपने जीवन में क्या हो और आगे कहां जाना

चाहते हो उसके लिए तुम्हें पहले से ही

सोचना होता है और जरूरी कदम उठाने होते

हैं यही यात्रा जीवन के अंत को तय करती है

जो लोग आलसी होते हैं वह ज्यादा होनहार

नहीं होते लेकिन अगर अपने हुनर का

इस्तेमाल तुम नहीं करते तो अपने जीवन में

तुम आगे नहीं बढ़ पाओगे और सदैव सपनों की

दुनिया में ही राज करते रह जाओगे जो कदापि

वास्तविक नहीं है उन्हें यह समझना होगा कि

वास्तविक शिखर पर तभी पहुंच सकते हैं जब

आप उसे पाने के लिए वास्तविक मेहनत करते

हैं इसलिए कहते हैं कि मेहनत का फल सदैव

मीठा होता है क्योंकि आपकी मेहनत ही जो

सदैव आपको जीत दिला सकती है और मैं

तुम्हारी इसी मानसिकता को जगाने आई हूं

मेरे बच्चे यदि आप मां काली से जुड़ना

चाहते हैं तो इस चैनल को सब्सक्राइब और

वीडियो को लाइक अवश्य करें और कमेंट बॉक्स

में जय मां काली लिखना ना भूले

मेरे प्यारे बच्चे संसार में सभी चीजों का

समाधान है किंतु लोग कभी-कभी राह भटक जाते

हैं इसलिए आज मैं तुम्हें सही राह दिखाने

आई हूं तुम्हें दर्शन देने आई हूं कि तुम

गलत राह पर से हटकर अच्छाई की राह पर चलो

मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि तुम बहुत

अधिक परेशान हो और तुम्हें मेरी आवश्यकता

है ऐसे बहुत से लोग हैं जो तुम्हारे जीवन

में बहुत कुछ गलत कर रहे हैं इसलिए मैं

तुम्हें उन लोगों से दूर रहने के लिए

चेतावनी देने आई हूं जब भी तुम परेशान

होते हो तो मुझे अपनी पुकार भेजते हो तो

तुम्हें लगता है कि मैं तुम्हारी पुकार का

समाधान उसी समय प्रदान करूंगी इसलिए मेरे

बच्चे बस मैं तो यह देखना चाहती हूं कि

तुम अपनी परेशानियों से कब तक लड़ सकते हो

किंतु मेरे बच्चे मैं तुम्हारी हर परेशानी

को हल करूंगी लेकिन मैं तुम्हारी

परेशानियों से पहले ही तुम्हें चेतावनी दे

देती हूं ताकि तुम उनसे लड़ने के लिए

तैयार हो जाओ मेरे बच्चे कभी-कभी तुम मेरी

चेतावनी हों को अनदेखा और अनसुना कर देते

हो इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें उन चीजों का

फल प्रदान नहीं हो पाता है मेरे बच्चे

लेकिन आज तुम्हें तुम्हारी हर पुकार का हर

परेशानी का हल और हर परिश्रम का फल सभी

प्राप्त होंगे सारे कार्यों का समाधान

करना तो तुम्हारे हाथों में ही है मेरे

बच्चे परंतु तुम उन कार्यों का समाधान

ढूंढ ही नहीं पाते जबक वो समाधान जबक वो

हल तुम्हारे सामने ही होते हैं तुम उन्हें

अनदेखा कर देते हो मेरे बच्चे अब तुम्हारे

इंतजार का अंत होने वाला है लेकिन तुम यह

नहीं समझते हो कि कोई भी फल कोई भी

परेशानी का हल मिलने से पहले उसके लिए

इंतजार करना अति आवश्यक होता है तुम्हारे

द्वारा मांगी गई हर इच्छा का कार्य करने

में समय लगता ही है इसलिए मेरे बच्चे तुम

इंतजार करना सीखो

मेरे बच्चे तुम अपनी मांगी हुई चीजों को

मांगने से पहले यह देखो कि तुम उन चीजों

को खुद हासिल कर सकते हो या नहीं अगर तुम

यह खुद नहीं कर सकते तो मैं वह चीजें

तुम्हें अवश्य प्रदान करूंगी मेरे बच्चे

लेकिन तुम्हें थोड़ा इंतजार करना बहुत

जरूरी है हर एक इच्छा पूर्ण करने में

थोड़ा समय तो लगता ही है अगर तुम थोड़ा

परिश्रम खुद ही करोगे तो वह चीज तुम्हें

खुद ब खुद प्रदान हो जाएंगी मेरे बच्चे

तुम अपनी शिक्षा अपना व्यवसाय और अपना धन

किसी के पुण्य कार्यों में लगाओगे तो

तुम्हारी पुकारो को मैं बहुत जल्दी

सुनूंगी लेकिन मेरे बच्चे तुम तो ऐसा कुछ

ही नहीं करते तुम तो लोगों के भड़का में

चलकर उनकी बातों में आकर किसी को भी

खुशियां प्रदान नहीं करते मेरे बच्चे तो

तुम खुद मुझे यह बात बताओ कि मैं तुम्हें

कैसे खुशियां दे सकती हूं जब तक तुम किसी

को खुश ही नहीं देख सकते तुम्हारे दुश्मन

तुम्हारे कुछ अपने ही हैं लेकिन तुम

उन्हें पहचानने में भूल कर रहे हो वो

दुश्मन वो अपने ही हैं वो लोग बस यह चाहते

हैं कि तुम अपने जीवन में उन्नति प्रदान

ना करो अपने भविष्य को उज्जवल ना बनाओ

इसलिए मेरे बच्चे मैं तुम्हें उन लोगों से

दूर रहने के लिए कहना चाहती हूं वो लोग

जाने अनजाने में खुद के लिए ही परेशानियां

उत्पन्न कर रहे हैं वो लोग यह नहीं जानते

कि जब तक मैं तुम्हारे साथ हूं तुम्हारा

कोई कुछ भी नहीं बिगाड़ सकता मैं सब जानती

हूं कि कौन कैसा है मैं सब कुछ सुन रही

हूं कि कौन तुम्हारे लिए षड्यंत्र रच रहा

है और कौन कौन तुम्हारी बुराई कर रहा है

उन लोगों की सोच की वजह से ही आज तुम्हारी

सोच में भी बेईमानी और मतलबी पन आ गया है

मेरे बच्चे तुम बहुत अच्छे और एक नेक दिल

इंसान हो उनकी बातों में मत आओ मैं

तुम्हें इसी वजह से चेतावनी देने आई हूं

कि तुम उन लोगों से दूर रहो उनसे अपने

द्वारा या अपने परिवार की कोई भी बात मत

बताओ क्योंकि वो लोग तुम्हारी परेशानियों

को सुनकर उन परेशानियों को बहुत बड़े

मुश्किलों में बदल देंगे वह तुम्हारे जीवन

में और भी कठिनाइयां उत्पन्न कर देंगे वो

लोग तो बस यही चाहते हैं कि तुम आगे ना

बढ़ जाओ कुछ लोग तो तुम्हारे परिवार में

ही ऐसे हैं जो तुम्हारी उन्नति से जलते

हैं वो लोग कभी नहीं चाहते कि तुम आगे

बढ़ो तुम उन लोगों से ज्यादा तरक्की पाओ

लेकिन मेरे बच्चे बचे जब तक मैं तुम्हारे

साथ हूं तुम्हारी उन्नति को और तुम्हारे

भविष्य को उज्जवल होने से कोई नहीं रोक

सकता तुम तो एक नेक दिल इंसान हो वह लोग

तुम्हारी तरक्की से जल रहे हैं और जलते ही

रह जाएंगे मेरे बच्चे वो लोग तुम्हें भी

भड़का रहे हैं तुम उनकी बातों में मत आओ

जब तुम्हारी आंखों से उनके लिए स्नेह का

भाव हटेगा तब तुम्हें यह दिखेगा कि वो लोग

कितने खराब हैं वो लोग अपने ही परिवार

वालों के बारे में कितना गलत सोचते हैं

कितनी गलत भावना रखते हैं मेरे बच्चे

तुम्हें उनसे दूरी बनाना अत्यंत आवश्यक है

क्योंकि मेरे बच्चे जब तक तुम उनसे दूरी

नहीं बनाओगे तब तक वह तुम्हें अंदर ही

अंदर भड़का कर खोखला करते रहेंगे मेरे

बच्चे अगर तुम अपने जीवन में उन्नति और

उज्जवल भविष्य की कामना करते हो तो मेरे

बच्चे उनसे जितनी जल्दी हो सके दूर हो जाओ

अगर जब तक तुम दूर नहीं होंगे तब तक

तुम्हारे जीवन में खुशियां नहीं आ पाएंगी

मेरे बच्चे तुम्हारा परिवार और तुम बहुत

अच्छे हो लेकिन परिवार में ही कुछ लोग ऐसे

होते हैं जो तुम्हारी ही बुराई किसी और से

करते हैं वो लोग तुम्हारी बुराई करके

दूसरे लोगों को तुम्हारी परेशानियों के

बारे में बताते हैं जिससे वो लोग तुम्हारे

लिए नए षड्यंत्र रच लेते हैं तुम्हारी कोई

भी अच्छे काम को बुरा करने के लिए सोचते

हैं वो यह नहीं चाहते कि तुम अपने जीवन

में कभी भी पुण्य कमाओ और तुम उन्नति

प्राप्त करो मेरे बच्चे लेकिन वो लोग ये

नहीं जानते कि जब तक मैं तुम्हारे साथ हूं

तब तक कोई तुम्हारा कुछ भी नहीं कर सकता

ना तुम्हें और ना तुम्हारे परिवार को कोई

हानि पहुंचा सकता है मेरे बच्चे मैं

तुम्हारी उन्नति को तुम्हें प्रदान करने

में तुम्हारी मदद करूंगी मेरे बच्चे बस

तुम्हें थोड़ा इंतजार रखना है थोड़ा धैर्य

रखना है मैं सब कुछ सुन रही हूं तुम्हारी

सारी पुकार का तुम्हें फल अवश्य प्रदान

करूंगी मेरे बच्

तुम मुझ पर भरोसा बनाए रखो मैं तुम्हारा

भरोसा कभी टूटने नहीं दूंगी मेरे बच्चे

तुम मेरे प्रिय पुत्र हो मेरे प्रिय भक्त

हो तो मैं तुम्हारा साथ कैसे छोड़ सकती

हूं मेरे बच्चे मैं तुम्हारे साथ सदा के

लिए हूं तुम्हारे और तुम्हारे परिवार की

उन्नति में तुम्हारी मदद करने के लिए सदैव

तत्पर तैयार रहती हूं मेरे बच्चे तुम और

तुम्हारा परिवार अवश्य खुशियों को प्रदान

करेगा क्योंकि जब तक तुम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *