तुम्हारी किस्मत तुम्हारा साथ छोड़ देंगेurgent?️ message for YOU maa want to send you a msg - Kabrau Mogal Dham

तुम्हारी किस्मत तुम्हारा साथ छोड़ देंगेurgent?️ message for YOU maa want to send you a msg

मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि तुम परेशान
हो और मैं यह भी जानती हूं कि तुम इतने
परेशान क्यों हो मेरे बच्चे मैं जानती हूं
कि कोई है जो तुम्हारे परिवार को दुख
पहुंचाना चाहता है कोई है जो तुम्हारे
परिवार के खिलाफ षड्यंत्र रच रहा है मेरे
बच्चे मैं तुम्हारी मां हूं मैं तुमसे
बहुत प्यार करती हूं इसलिए मैं आज तुम्हें
यह बताना चाहती हूं कि उस व्यक्ति से तुम
थोड़ा सतर्क रहो थोड़ा सावधान रहो क्योंकि
वह तुम्हारे परिवार को बर्बाद करना चाहता
है वह तुम्हारी तरक्की से जलता है मेरे
बच्चे तुम सिर्फ अपने और अपने परिवार पर
ध्यान दो मेरे बच्चे मैं चाहती हूं कि तुम
और तुम्हारा परिवार सदैव खुश रहे और आज
मेरे बच्चे मैं तुम्हें यही बताना चाहती
हूं कि वह व्यक्ति बहुत खतरनाक है उससे
दूर रहना तुम्हारे लिए अति आवश्यक है मेरे
बच्चे वह तुम्हारे परिवार के खिलाफ
तुम्हें भड़का रहा है और धीरे-धीरे
तुम्हारे परिवार को तोड़ना चाहता है मेरे
बच्चे तुम अपने परिवार को मजबूत बनाए रखो
और उनकी खुशियों का हमेशा ध्यान दो उन्हें
अपना समय दो और उस व्यक्ति से अपने परिवार
को दूर रखो मेरे बच्चे मैं चाहती हूं कि
तुम हमेशा खुश रहो और तुम्हारा परिवार भी
सदैव खुशियों से भरा रहे इसलिए मेरे बच्चे
तुम खूब तरक्की करो और अपने परिवार का नाम
ऊंचा करो मेरे बच्चे कुछ लोग ऐसे होते हैं
जो अपना काम निकलवा करर तुमसे दूर हो जाते
हैं और फिर तुम्हारे बारे में ही बुरा
सोचते हैं तुम्हारे बारे में ही कुछ ना
कुछ ऐसा करते हैं जिससे तुम अपमानित महसूस
करते हो मेरे बच्चे तुम अपने परिवार वालों
से बहुत प्यार करते हो और वह व्यक्ति यह
बात बहुत अच्छे से जानता है कि अगर वह
तुम्हें तुम्हारे परिवार से अलग कर देगा
तो वह बहुत आसानी से तुम्हारा नाश कर
पाएगा इसलिए मेरे बच्चे तुम अपने परिवार
वालों पर पूर्ण भरोसा रखो और उन पर अपना
प्यार यूं ही बरसाते रहो मेरे बच्चे वह
शत्रु तुम्हारा कोई अपना ही है वह
तुम्हारे परिवार को कुशल नहीं देख पा रहा
है वह तुम्हारी खुशियों को नहीं देख पा
रहा है इसलिए वह तुमसे जलता है वह यह
चाहता है कि तुम कभी अपने जीवन में तरक्की
ना पा पाओ कभी अपने भविष्य को अच्छा ना
बना पाओ अपना भविष्य उज्जवल ना कर पाओ और
अपने परिवार को दुख दो मेरे बच्चे वो
तुम्हारे परिवार वालों के खिलाफ एक भयानक
षड्यंत्र करना चाहता है वह तुमसे तुम्हारी
सारी खुशियों को छीन लेना चाहता है इसलिए
मेरे बच्चे तुम उससे थोड़ा दूर रहो और उसे
यह बात अच्छे से ज्ञात करा दो कि तुम्हें
तुम्हारे परिवार वालों से दूर करना
मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है क्योंकि
तुम्हारे परिवार तुम्हारा बहुत सम्मान
करते हैं और तुमसे बहुत प्रेम करते हैं
मेरे बच्चे मैं भी तुमसे अत्यंत प्रेम
करती हूं इसलिए मैं तुम्हें यह सचेत करना
चाहती हूं कि तुम उससे सावधानी बढ़ते रहो
मेरे बच्चे तुम हमेशा तरक्की करो मैं
तुम्हें यह आशीर्वाद देना चाहती हूं जिससे
कि तुम अपने परिवार वालों को बचा सको और
मेरे मेरे बच्चे तुम सिर्फ अपने परिवार
वालों को ही अपना समय दो मेरे बच्चे तुमने
तो सदैव अच्छा ही काम किया है तुमने
जरूरतमंद लोगों की जरूरतों को पूरा किया
है तुमने भिखारियों को खाना खिलाया है तो
कोई कैसे तुम्हारी खुशियों को तुमसे छीन
सकता है मेरे बच्चे मैं तुम्हारी मां हूं
मैं तुम्हारा सदैव अच्छा चाहती हूं मैं सब
जानती हूं कि कौन अच्छा है और कौन बुरा है
कौन अच्छे कर्म कर रहा है और कौन बुरे
कर्म कर रहा है मैं जानती हूं मेरे बच्चे
कि तुम एक बहुत अच्छे इंसान हो तुम सभी
लोगों को बहुत प्रेम करते हो वह चाहे
तुम्हारा अपना हो या कोई पराया तुम कभी
किसी भी व्यक्ति के लिए अपनी भावनाओं को
नहीं बदलते हो मेरे बच्चे तुम तो एक
पवित्र आत्मा हो
और तुमने मेरी सदैव पूजा की है मुझसे सदैव
अपने लिए प्रार्थना की है तुम तो दूसरों
का भला ही चाहते हो लेकिन मेरे बच्चे
कभी-कभी ऐसा होता है कि कोई अपना ही
तुम्हें हानि पहुंचाने की कोशिश करता है
कोई अपना ही तुम्हें दुख देना चाहता है
क्योंकि वह नहीं चाहता कि तुम कभी खुश रहो
तुम कभी उन ऊंचाइयों को पाओ जहां तक वो
जाने की कभी सोच भी नहीं सक
मेरे बच्चे तुम तो अपने कर्मों पर ध्यान
दो अपने कर्म यूं ही करते रहो अपनी
अच्छाइयों से अपने परिवार को खुशियां दो
मेरे बच्चे तुम एक अच्छे इंसान ही नहीं
बल्कि तुम एक पुत्र एक अच्छे पति और एक
अच्छे भाई भी हो तुमने अपने सभी फर्ज बहुत
अच्छे से निभाए हैं तुमने अपने सभी फर्ज
में कभी भी कोई कमी नहीं की है तुमने कभी
किसी के लिए कोई भी हीन भावना नहीं रखी है
लेकिन मेरे बच्चे कुछ लोग ऐसे होते हैं जो
तुम्हारे पास रहकर ही तुम्हें अंदर से
खोखला कर देते हैं वह तुम्हें भड़का कर
सदैव एक दूसरे के प्रति हीन भावना रखना
चाहते हैं मेरे बच्चे वो तुम्हें भड़का कर
तुम्हारे परिवार से तुम्हें अलग कर देंगे
और अगर मेरे बच्चे तुम उनकी बातों में आ
जाओगे तो फिर तुम क क भी अपने परिवार
वालों से नहीं मिल पाओगे क्योंकि वह
तुम्हारे मन में ऐसी बातें डाल देगा जिससे
तुम अपने परिवार से दूर हो जाओगे तुम अपने
परिवार से घृणा करने लगोगे मेरे बच्चे वो
तो यही चाहता है कि तुम अपने परिवार से
दूर हो जाओ और हमेशा दुख के भागी बनकर रहो
मेरे बच्चे वो व्यक्ति बहुत बुरा है वो
जैसी भावना दूसरों के लिए रखता है वैसे ही
तुम्हें भ कर तुम्हारे भावना को भी वैसा
ही कर देगा वह सिर्फ लोगों का बुरा ही
चाहता है वह कभी भी तुम्हें तो क्या किसी
और को भी खुश नहीं देखना चाहता है वो अपने
परिवार वालों को सुख नहीं दे पा रहा है
इसलिए वो यह चाहता है कि तुम भी अपने
परिवार वालों को सुख ना दे पाओ जैसे उसके
परिवार वाले उससे घृणा करते हैं उसे पसंद
नहीं करते हैं वैसे ही तुम्हारे घर वाले
भी तुम्हें पसंद ना करें और तुम्हें घर से
निकाल दे मेरे बच्चे तुम उस व्यक्ति से
दूर रहो वह काला साया करके तुम्हारे
परिवार वालों को तुमसे अलग कर देना चाहता
है मेरे बच्चे मैं जानती हूं कि तुम ऐसा
नहीं चाहते हो मेरे बच्चे मैं यह भी जानती
हूं कि वह व्यक्ति तुम्हारे पास ही रहकर
तुम्हें तुम्हारे परिवार से दूर करना
चाहता है इस इसलिए तुम अपने परिवार वालों
को यह बात जाकर बता दो कि व व्यक्ति से वो
लोग दूर रहे और उनके प्रति कभी भी किसी भी
प्रकार की भावना को जागृत ना होने दे मेरे
बच्चे तुम तो बस अपने कार्य करते रहो और
अपने आने वाले भविष्य के बारे में सोचो
क्योंकि तुम्हारा आने वाला भविष्य एक
उज्जवल भविष्य है तुम्हारा आने वाला
भविष्य तुम्हें प्रगति की ओर ले जाएगा
तुम्हें तरक्की दिलवाए मेरे बच्चे तुम
अपने परिवार से अत्यंत प्रेम करते हो और
तुम यह नहीं चाहते हो वो कभी भी तुमसे अलग
हो मेरे बच्चे इसलिए तुम अपने साथ-साथ
अपने परिवार वालों को भी उन ऊंचाइयों को
दिखाना चाहते हो जिसे तुम अपने लिए स्वप्न
में सजा कर रखे हो मेरे बच्चे तुम्हारे
सारे सपने पूर्ण होंगे और वो शत्रुओं का
भी नाश हो जाएगा मेरे बच्चे मैं जानती हूं
कि तुम कभी किसी का बुरा नहीं चाहोगे
लेकिन मुझसे कभी कुछ नहीं छुपा है ना
तुम्हारा शत्रु ना तुम्हारी परेशानियां ना
तुम्हारा सुख ना तुम्हारा दुख मेरे बच्चे
मैं सभी लोगों को सुख प्रदान करती हूं मैं
तो सबकी माता हूं तो मैं किसी के बारे में
क्यों गलत सोचूं मेरे बच्चे लेकिन यह तो
नियति का नियम है कि अगर कोई अच्छे कर्म
कर रहा h

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *