तुम्हारा कोई अपना तुम्हें धोखा देने वाला है - Kabrau Mogal Dham

तुम्हारा कोई अपना तुम्हें धोखा देने वाला है

मेरे बच्चे एक नया मौसम आने वाला है यह मौसम तुम्हारे लिए है यह बदलाव का मौसम है

यहां अब कुछ ऐसा होगा जिसकी तुमने अभी तक उम्मीद नहीं की थी कुछ है जो अभी तक रुका

हुआ था ठहरा हुआ था जिसमें गति नहीं प्राप्त हो रही थी लेकिन अब उसे गति मिलने

वाली है मेरे बच्चे अब इस माह में कुछ ऐसा होने वाला है जो बहुत से लोगों को असमंजस

की स्थिति में डाल देगा लेकिन तुम्हें यह प्रचुर मात्रा में सच्चा प्रेम और धन

दिलाएगा यह नया मौसम होगा यह जीत का मौसम होगा यह कुछ ऐसा होगा जो तुम्हारी

कल्पनाओं से भी बिल्कुल अलग होगा तुम्हारी कल्पनाओं से भी श्रेष्ठ होगा और इसके लिए

तुम्हें संदेश को पूरा अंत तक सुनना है बीच में छोड़कर जाने की भूल नहीं करनी है

मेरे बच्चे तुम्हें अपनी माता के लिए इस संदेश को अभी लाइक करना है और साथ ही साथ

जय हो माता रानी लिखना है और अपनी खुशी जाहिर करनी है मेरे बच्चे यह एक ऊर्जा का उद्गम स्रोत

बनेगा जहां से बहुत कुछ निर्मित होने वाला है तुम्हारे जीवन में एक बहुत ही बड़ा

आशीर्वाद तुम्हें मिलने वाला है यह किसी विशेष मनुष्य से ही तुम्हें प्राप्त होगा

एक ऐसा मनुष्य जो तुम्हारे जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक है वह तुम्हारे जीवन में

अपार खुशियां लेकर आएगा और यह खुशियां ना केवल तुम्हें बल्कि तुम्हारे पूरे परिवार

को प्रसन्नता के आशीष से भर देंगी मेरे बच्चे तुम एक के बाद एक बड़ी

जीत एक के बाद एक बड़ी सफलताओं का अनुभव करोगे यह ऐसा होगा जैसे सर्वप्रथम तुम्हें

महसूस होगा बाद में यह दुनिया की नजरों में आ जाएगा मेरे बच्चे बहुत जल्द तुम्हें

प्रचुरता के साथ अच्छा स्वास्थ आनंद और खुशियों से भरा हुआ जीवन मिलेगा चमत्कार

आशीर्वाद और सकारात्मक बदलाव जैसी अच्छी चीजें तुम्हारे जीवन में आएंगी लेकिन यह

तभी तुम्हें हासिल होंगी जब तुम इस संदेश को पूर्णता अंत तक सुनोगे क्योंकि यह

संदेश केवल एक साधारण संदेश मात्र नहीं है इसमें से बहुत सी ऊर्जा अदृश्य रूप में

निकल रही है जो तुम्हें महसूस भले ना हो लेकिन वह अपना कार्य बहुत तेजी से एक

उत्प्रेरक की तरह कर रही हैं मेरे बच्चे तुम्हें भरपूर आशीर्वाद

मिलने वाला है तुम्हें भरोसा करना होगा और तभी तुम्हारा जीवन स्वयं उस कमल की भाति

खिल जाएगा जो कीचड़ में तो रहता है लेकिन अपने भाग्य सौंदर्य और ईश्वर की मर्जी के

साथ भी खिला हुआ रहता है और श्रेष्ठ हो जाता है जो लक्ष्मी का आसन बन जाता है जो

धन का स्रोत बन जाता है जो पवित्र

ऊर्जांचल उसे अपने हाथों से छू पाओगे मेरे बच्चे यह सोने का एक सिक्का है

जो तुम्हें मिलने वाला है यह तुम्हारे जीवन में नए-नए अवसर लेकर आएगा यह दृश्य

मान रूप में भी हो सकता है और अदृश्य रूप में भी हो सकता है किंतु यह तुम्हें अपने

होने का एहसास कराएगा जिस तरह से एकदम अंधकार भरी रात्रि में भी चांद की रोशनी

मनुष्य के मन को शांत करती है उसके भीतर के कोलाहल को शांत करती है वैसे ही यह

तुम्हारे भीतर के शोर को शांत कर देगी यह तुम्हारे भीतर उठ रहे तूफान को पूरी तरह

से शिथिल कर देगी मेरे बच्चे चमत्कारों और आशीष से भरा

हुआ यह मौसम केवल तुम्हारे लिए तैयार किया जा रहा है इसके गुण धर्म केवल तुम्हें

अच्छाई प्रदान करने के लिए मिल रहे हैं ईश्वर की असीम कृपा से अब तुम्हारे जीवन

के सभी नकारात्मक पहलू सकारात्मकता में बदल जाएंगे और यूं ही नहीं बल्कि कुछ ऐसे

बदलेंगे कि तुम्हारा पूरा जीवन धन्य हो उठेगा मेरे बच्चे तुम्हारा परिवार अब उस

खुशी को महसूस करेगा जिसे पाने के लिए आम जन तरसते रहते हैं तुम अब जो भी धन खर्च

करोगे उसके बदले में तुम्हें कई गुना धन प्राप्त हो तुम जो भी धन दान करोगे उसके बदले में कई

गुना ज्यादा धन प्राप्त होगा यह तुम्हारी ऊर्जा औरन होगा मेरे बच्चे इससे पीछे नहीं हटना

बांटने से पीछे नहीं हटना तुम प्राप्त करने वाले हो ईश्वर के असीम आशीर्वाद को

तुम इसकी शरण में आ चुके हो इससे झुकना मत इससे हटना नहीं तैयार हो जाओ क्योंकि अब

तुम्हारा जीवन अधिक प्रचुर आनंद और सफलता के साथ काफी बेहतर होने वाला है प्रेम धन

वाहन मकान यह सब तुम्हें अब बड़ी मात्रा में हासिल होगा जो तुम सोच रहे थे कुछ

उससे अलग होगा किंतु यह बेहतर होगा तुम्हारी कल्पना से भी ज्यादा विशाल

होगा मेरे बच्चे तुम्हें अप्रत्याशित उपहारों का आशीर्वाद मिल रहा है प्रेम और

प्रचुरता की वर्षा तुम्हारे जीवन में कराई जा रही है यह तुम्हारे जीवन में बिना रुके

निर्मम जल की भाती बहती रहेगी निकट भविष्य में तुम महान आनंद के छड़ों का अनुभव

करोगे जो किसी भी दुख को दूर कर देगा मेरे बच्चे तुम्हें निडर रहना है

तुम्हें बेफिक्र होना है किसी भी बात की चिंता नहीं करनी है घने काले बादल छट

जाएंगे नया सवेरा होगा रोशनी ही रोशनी बिखरे गी अनंत ब्रह्मांड में तुम्हारी यह

अनंत दिव्य मान ऊर्जा समाहित हो जाएगी कि खुशियों का नया सागर तुम्हें गोते लगाने

पर विवश कर देगा मेरे बच्चे प्रेम को अब तुम तह दिल

से महसूस कर पाओगे तुम्हारी प्रार्थना को सुन लिया गया है तुम्हारी चीख पुकार सुन

ली गई है जो तुम रो रो के विवश होके प्रार्थना कर रहे थे अब उसका उत्तर आने

वाला है अब तक बहुत कुछ घटा है लेकिन अब कुछ ऐसा होने वाला है जिसकी तुमने उम्मीद

नहीं की थी इस वर्ष बहुत सी ऐसी चीजें घटित हुई है जो कल्पना से परे थी यह संकेत

था तुम्हारे लिए कि तुम्हारे जीवन में भी कुछ अद्भुत होने वाला है यह संकेत रहा है

यह बताने के लिए कि तुम असीम अनंत आकाश के दिव

मान ऊर्जा से मिलने वाले हो मेरे बच्चे तुम्हारा सामंजस्य बनेगा एक

ऐसी ऊर्जा से जो तुम्हें खुशियों के स्रोत से मिला देगी जो तुम्हारे जीवन में कभी ना

समाप्त होने वाली ऊर्जा का केंद्र बन जाएगी तुम उसके नियोक्ता

होगे मेरे बच्चे यह आशीर्वाद है जो तुम्हें हासिल हो रहा है अपने दिल पर हाथ

रखकर अपने आप से संकल्प लो कि तुम अब कभी भी उदास नहीं होगे संकल्प लो कि तुम सदैव

खुशियों का ही विचार करोगे संकल्प लो कि तुम कभी खुद को कमजोर नहीं

समझोगे मेरे बच्चे तुम्हारे भीतर अनंत असीम ऊर्जा बह रही है जो तुम्हें चारों ओर

से घेरे हुई है यह ऊर्जा एक ऐसे प्रकाश के रूप में तुम्हारे जीवन में उतरेगी जो

तुम्हारे हृदय कमल को खुशियों से भर देगी यह कभी ना समाप्त होने वाला आनंद है यह

परमानंद है जो तुम्हारे मन को ना केवल हर्ष उल्लास उत्सव से भरेगा बल्कि तुमसे

जुड़े रहने वाले हर मनुष्य के जीवन को यह समृद्धि से भर देगा यह कभी ना समाप्त होने

वाला ईश्वरीय उपहार है जो केवल तुम्हें प्राप्त हो रहा है मेरे बच्चे अभी इसी क्षण अपने आप को

मजबूत बनाओ अभी इसी क्षण अपनी आंखें बंद करो और स्वयं से संकल्प लो खुद से कहो कि

मैं ऊर्जावान हूं मैं अनंत हूं मैं असीम हूं मैं निडर हूं मैं निर्भय हूं मुझे

किसी का भय नहीं कोई मुझे हरा नहीं सकता किसी में क्षमता नहीं कि वह मेरा सामना कर

सके क्योंकि मैं ईश्वर का अभिन्न अंग हूं मैं ही आशीर्वाद हूं मैं स्वयं ही उपहार

हूं मैं अस हूं मैं सदा था सदा हूं सदा

रहूंगा मेरे बच्चे अपने आप को मेरी ऊर्जा के साथ मिला लो मुझसे अलग मत हो मेरे

प्रेम को महसूस करो मेरे प्रोत्साहन को अपने भीतर उतर जाने दो आने वाले हफ्ते में

तुम्हारे जीवन में जो घटना घटने वाली है वह अनंत खुशियों से भरी हुई होगी यहां

तुम्हें कुछ ऐसे अनुभव होंगे जो पहले कभी नहीं हुए थे लेकिन इसके बाद तुम्हारे जीवन

में बहुत गरिमामई एक दीपक के समान जलती हुई विशाल लपटों वाली एक ऐसी ऊर्जा प्रवेश

करेगी जो मनुष्य रूप में होगी मेरे बच्चे इसका तुम्हें आशीर्वाद

मिलेगा इस आशीर्वाद से तुम जो चाहो उस मनोकामना को पूर्ण कर सकते हो किंतु यहां

तुम्हारी परीक्षा भी होगी अब तक तुम सभी प्रकार की परीक्षाओं में उत्तीर्ण होते आए

हो और आगे भी हो जाओगे ऐसा मेरा विश्वास है इसलिए मेरे बच्चे तुम बिना डरे अपने

जीवन को आगे ले जाते रहो तुम्हारे जीवन में निरंतर सुधार हो रहा है तुम पर राज

तिलक सुशोभित होने वाला है तुम्हारे मस्तक पर पर वह ताज सजने वाला है जो तुम्हें जीत

की ओर ले जाएगा जीत का यह ताज तुम्हारे जीवन को खुशियों से भर देगा जीत का यह ताज

तुम्हारे जीवन में अपार समृद्धि भर देगा असीम धन को भर देगा और प्रेम तो इतना

मिलेगा जो कभी समाप्त ना हो सकेगा तुम्हारे साथी के मन में ऐसा प्रेम उमड़े

कि वह तुम्हारे बिना एक पल को भी जीना ना चाहेगा मेरे बच्चे अप्रत्याशित

परिवर्तनकारी चमत्कारी अद्भुत घटना को अपने जीवन में

स्थान दो स्वागत करो स्वागत करो सभी

ऊर्जांचल में मौजूद है जो निरंतर तुम्हें सुन रहे हैं

तुम्हारी चपलता तुम्हारी चतुराई तुम्हारी चंचलता तुम्हारी मधुरता और तुम्हारे

मनमोहक मुस्कान पर वह पूरी तरह से फिदा है मेरे बच्चे वह तुमसे सम्मोहित हो चुके हैं

वह तुम्हारे साथ रहना चाहते हैं वह भी निरंतर प्रार्थनाएं करते हैं वह मोक्ष के

मार्ग पर तुम्हें ले जाने के लिए निरंतर प्रार्थनाएं कर रहे हैं मेरे बच्चे ता तुम रे मस्तक पर

सुशोभित होगा मेरी दिव्य योजना पर पूर्ण विश्वास जाहिर करो मेरे पास अद्भुत उपहार

है तुम्हारे लिए जो मैं तुम्हारे जीवन में भेजना चाहती हूं उन उपहारों को अपने जीवन

में आ जाने दो उन उपहारों को अपने दोनों हाथ खोलकर अपने जीवन में उतर जाने

दो मेरे बच्चे वह जो तुम्हारा इंतजार कर रहा है बहुत लंबे समय से अब उसके इंतजार

को भी समाप्त कर दो अब अपने अधूरे पन को समाप्त कर दो मेरे बच्चे मैं जानती हूं तुम्हें रह

रहकर बार-बार अधूरापन महसूस होता है उसके पीछे बहुत बड़ा कारण है पिछले कई जन्मों

से तुम्हारे अंश के साथ समाहित होने वाला तुम्हारा दूसरा अंश जिस मनुष्य में मौजूद

है वह निरंतर काफी समय से तुम्हारे इंतजार में है तुम उसे भी नहीं जानते हो लेकिन

जल्द ही तुम यह जान जाओगे कि वह कौन है मेरे बच्चे मनुष्य का साथी होना एक अलग

बात है लेकिन मनुष्य के जीवन का अंश हो जाना एक अलग बात है और वह जो सदा से

तुम्हारा अंश रहा है वह जो सदा से तुम में समाहित होना चाहता है वह काफी लंबे समय से

तुम्हारे इंतजार में है वह तुम्हें देखने को तरस रहा है की नजरें बार-बार तुमसे

मिलना चाहती हैं वह अब तुमसे मिलने वाला है खुले दिल से खुली बाहों से अपने दोनों

हाथ फैलाकर उसका स्वागत करो उसे अपने जीवन में स्थान

दो मेरे बच्चे वास्तविक प्रेम शरीर से कहीं ऊपर होता है वास्तविक प्रेम मन

मस्तिष्क बुद्धि चेतना से भी कहीं ऊपर हो होता है इस प्रेम का कोई आधार नहीं होता

इस प्रेम का कोई नहीं होता यह मनुष्य के बीच की दूरियां कम कर देता है मनुष्य की

मनुष्य से होने वाली दूरियों को मिटा देता है इसमें सम्मान होता है इसमें आधार होता

है इसमें सभी तरह की दिव्य ऊर्जा एं होती हैं मेरे बच्चे खुशियों का स्वागत कर लो

अब तुम्हारे जीतने का समय आ गया है इस जीत को अपने जीव में उतर जाने दो मेरी ऊर्जा

तुम्हारे साथ है मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ है इस बात को कभी भी मत भूलना जो तुम

बांटो ग वही तुम प्राप्त करोगे इसलिए अब तैयार हो जाओ और अपने जीवन को खुशियों से

भर लो जो भी तुम्हारे साथ अब तक गलत हुआ है उस बात को भूल जाओ सभी कष्टों को भूल

जाओ सदा याद रखो कि मेरा आशीर्वाद हमेशा तुम्हारे साथ है मेरे आने वाले संदेश की

प्रतीक्षा में रहना मैं अवश्य आऊंगी तुम्हें जी दिलाने तुम्हारा मार्गदर्शन करने

तुम्हें सही राह पर ले जाने के लिए सदा सुखी रहो तुम्हारा कल्याण हो जय हो माता

रानी हर हर महादेव मेरे बच्चे ग्रहों की दिशा बदलने

लगी है शीतल वायु अब तुम्हारी ओर बहने लगी है यह विस्तार का समय प्रारंभ हो रहा है

अब तुम्हारे जीवन का एक नया सत्र आरंभ हो रहा है अब तक तुम जिस भंवर में फसे हुए थे

अब वह भंवर समाप्त होने वाला है उसका रास्ता साफ होने वाला है अब एक नए सुंदर

अध्याय का उदय होगा एक नया सुंदर अध्याय अब तुम्हारे जीवन में लिखा जाएगा मानो कई

दिनों के अंधकार के बाद सूर्य अपनी क्षितिज पर उभरा

हो जिस प्रकार से सूर्य के उदय होते ही वातावरण की सभी नकारात्मक शक्तियां समाप्त

हो जाती हैं और सभी पशु पक्षी मानव प्राण शक्ति ग्रहण करने लगते हैं ठीक उसी तरह से

तुम्हारे जीवन में अब एक नया सवेरा होगा अब एक नया दिन उजागर

होगा इसलिए मेरे बच्चे इस संदेश को पूर्ण सुनना है तुम्हें किसी भी हाल में इसे

अनदेखा करने की भूल नहीं करनी है अब मैं तुम्हें तुम्हारी उपलब्ध ियो से जुड़ी हुई

बहुत महत्त्वपूर्ण बात बताने वाली हूं अब तुम उस अवधि में प्रवेश करने जा रहे हो

जहां तुम्हें स्वयं का बहुत तेजी से विस्तार करना होगा ब्रह्मांड के मूल

स्वरूप अर्थात विस्तार से तुम्हें सामंजस से बिठाना

होगा मेरे बच्चे यह ब्रह्मांड अनंत काल से ही विस्तारित होता जा रहा है और यह अनंत

काल तक ही विस्तारित होता रहेगा और इसी से सभी ऊर्जांचल हो जाती हैं और अब जब तुम भी

इसी ब्रह्मांड का अंश हो तो आखिर कब तक तुम सीमित स्वरूप में ही जीवन जीते

रहोगे मेरे बच्चे यह वही समय है जब तुम्हें अपनी शक्तियों को अपनी क्षमताओं

को और अपनी ऊर्जा को सभी तरफ से बढ़ाना होगा इसका अर्थ यह है कि जीवन के सभी स्तर

पर तुम्हें अब अपना विस्तार करना होगा क्योंकि अब तुम्हारे लिए अनेकों संभावना

के द्वार खुल रहे हैं ऐसे द्वार जहां से केवल प्रगति और प्रगति ही प्राप्त हो सकती

है जहां से तुम्हें यह प्रकृति असीमित समृद्धि प्रेम और सम्मान दिलाना चाहती है

लेकिन मेरे बच्चे इसे प्राप्त करने के लिए तुम्हें स्वयं का विस्तार करना होगा

तुम्हें बड़े पैमाने पर अपने आप को देखना होगा जो तुम नहीं जानते हो उसे जानने का

प्रयास करो उसे जानने का प्रयास करो जो एक है जो सर्वत्र है जो हमेशा से था जो हमेशा

रहेगा इस संसार की बाकी व्यवहारिक ज्ञान से कोई फर्क नहीं पड़ता यह प्रकृति गुप्त

ज्ञान अपने भीतर समेटे बैठी है और इसी गुप्त ज्ञान को जानकर तुम्हें अपने भीतर

वृद्धि करनी होगी अपना विस्तार करना होगा ध्यान में उतर करर तुम अपनी ऊर्जा का

विस्तार करोगे और जब मैं ध्यान की बात कर रही हूं तो मैं गुण ध्यान की बात कर रही

हूं तथाकथित उन ध्यान की नहीं जो समाज ने स्वयं के लिए मान रखा

है मेरे बच्चे तुम्हारे जीवन में धन प्रेम प्रतिष्ठा और पवित्रता का विस्तार होगा इस

विस्तार को तुम्हें स्वीकार करना होगा यदि किसी कार्य को उसके निर्धारित समय पर किया

जाए तो पूरी प्रकृति उस कार्य में सहयोग करती है इसमें तुम्हारा मनोभाव और

तुम्हारी इच्छा शक्ति यह तय करती है कि तुम इस कार्य को कितना आगे लेकर जाओगे

तुम्हारे कर्म इस बात पर निर्धारित होते हैं कि वह कर्म निष्काम है अर्थात वह कर्म

मैं की भावना से किए गए हैं मेरे बच्चे मैं की भावना से किया हुआ

कोई भी कर्म ईश्वर को समर्पित नहीं होता और जो ई को समर्पित नहीं होता है वह इस

संसार में यूं ही विलीन हो जाता है उसका कोई मूल्य नहीं रह जाता है इसलिए मेरे

बच्चे तुम्हें अपने ना केवल ज्ञान का विस्तार करना होगा बल्कि अपनी सोच का भी

विस्तार करना होगा और स्वयं को कर्ता भाव से मुक्त करके स्वयं को अकर्म की श्रेणी

में लाना होगा जब तुम अकर्म की श्रेणी में ले आओगे तभी तुम्हारा निष्काम कर्म सफल

होगा मेरे बच्चे इस संसार में कोई भी मनुष्य बिना कर्म किए नहीं रह सकता यदि वह

शांत चित्त भाव से चुपचाप बैठा है तो भी उसका कर्म निश्चित होता रहेगा तब भी उसका

कर्म फलीभूत होता रहेगा तब भी उसका कर्म चक्र चलता ही

रहेगा लेकिन स्वयं को कता भाव से मुक्त रखकर किया गया सभी कर्म ईश्वर को समर्पित

होता है और ऐसी मान्यता रखने वाले मनुष्य के जीवन में कभी कुछ भी बुरा नहीं होता

कारण यह क्योंकि तब उसका कोई कर्म होता ही नहीं है जब वह यह मान बैठता है कि जो हो

रहा है वह ईश्वर की मर्जी से हो रहा है जो होगा वह ईश्वर की मर्जी से होगा तब उसके

जीवन में जो भी क्षण आते हैं उन्हें वह जिंदा दिली के साथ जीने लगता है क्योंकि

तब वह यह चाहत भूल जाता है कि उसे कुछ चाहिए तब वह शिकायत भूल जाता है कि उसे

कुछ नहीं मिला कारण यह है कि जब ऐसा भाव किसी के मन मस्तिष्क में उत्पन्न होता है

तो वह यह मान बैठता है कि उसे जो भी प्राप्त हो रहा है वह ईश्वर की मर्जी से

ही प्राप्त हो रहा है और यदि उसे कुछ नहीं मिल रहा है तो वह ईश्वर की ही मर्जी से

नहीं मिल रहा है और इस संसार में जो भी हो रहा है चाहे उसके अपने ही हाथ हो चाहे

उसके अपने ही विचारों द्वारा चाहे उसके अपने ही शरीर द्वारा क्यों ना किया गया हो

वह यह मान लेता है कि तत्कालीन परिस्थिति में यह

परिस्थिति जन कर्म ईश्वर द्वारा ही कराया गया है और ऐसी स्थिति में उसका कोई भी

कर्म कभी भी लिखित दर्ज होता ही नहीं है बल्कि यह सब अकर्म अर्थात निष्काम कर्म की

श्रेणी में आ जाता है और उस क्षण से उसके सभी कर्म नष्ट हो जाते

हैं मेरे बच्चे जब मनुष्य के कर्म नष्ट हो जाते हैं तो कर्म चक्र भी नष्ट हो जाता है

और ऐसी परिस्थिति में मनुष्य सभी तरह के पाप पुण्य से मुक्त हो जाता है फिर उसके

आगे ना तो कोई मार्ग उसे नजर आता है ना ही उसके पीछे कोई बाधा उसे नजर आती है ना उसे

कोई रोने वाला नजर आता है ना उसे कोई सहारा नजर आता है फिर वह पूरे संसार में

केवल अपने आप को ही देखता है अपने ही स्वरूप को देखता है वह उस तारों को भी

महसूस करता है जो सर्वप्रथम इस संसार में निर्मित हुआ था जल के उन अणुओं को भी

महसूस करता है जो कभी उसके भीतर तो कभी आसमान के बादलों में

छिपे हुए होते हैं मेरे बच्चे यदि तुम गंभीरता से विचार

करो तो तुम यह जान पाओगे कि तुम्हारा यह शरीर से प्र तक जल से ही निर्मित है

और यह जल कहां से आया यह जल कभी भूमि में था यही जल कभी फल सब्जियों में था यही जल

कभी समुद्र में था तो यही जल कभी नदियों में था यह जल नालियों में भी रहा यही जल

सूर्य द्वारा वास होकर पर बादल भी बना यही जल वर्षा भी बना यही जल तुम्हारे भीतर भी

गया यह जल सदा से ही रहा है इस संसार में इस धरा पर इस ग्रह पर इस भूलोक अर्थात

पृथ्वी पर यह जल आदि काल से ही रहा है और यही जल तुम भी बन जाते हो यही जल कोई अन्य

जीव भी बन जाता है यह जल सदा से ही था यह जल सदा ही रहे इसके रूप परिवर्तित हो रहे

हैं मेरे बच्चे केवल इसका विचार करो अर्थात तुम्हारे शरीर में जाने वाला

प्रत्येक अणु कभी ना कभी किसी ना किसी अन्य रूप में भी विराजमान रहा है फिर तुम

किसी अन्य स्वरूप किसी अन्य मनोभाव में स्थित व्यक्ति को नफरत की दृष्टि ईर्षा की

दृष्टि या जलन की दृष्टि से कैसे देख पाओगे यह संभव नहीं हो

पाएगा मेरे बच्चे जिस मनुष्य के भीतर ज्ञान हो जाता है जिस मनुष्य के भीतर

करुणा पनप उठती है वह समझ जाता है कि संसार में उसके सिवा दूसरा कुछ भी नहीं एक

वही इकलौता अद्वैत है वही असली सत्य है वही परम ज्ञान है वही परमानंद है और फिर

वह नैसर्गिक रूप से जीना प्रारंभ कर देता है फिर वह अपने शरीर की आवाज सुनना

प्रारंभ कर देता है फिर वह अपने मन के भुलावे में नहीं पड़ता फिर वह अपनी जीभ के

स्वाद के लालच में नहीं पड़ता ना अपनी काम वासना के लालच में जाता है ना वह किसी भी

तरह की वासना के पीछे भागता है ना ही वह किसी भी तरह की कामना के पीछे भागता है ना

ही किसी तरह की लालसा उसके भीतर उत्पन्न होती है उसके भीतर यदि कुछ बचता है तो

शुद्ध रूप से उसका परम चैतन्य आत्मा बचता है मेरे बच्चे यदि तुम मेरी बात को गहराई

से समझोगे तो यह जान पाओगे कि मैं तुम्हें क्या बताना चाह रही हूं मैं तुम्हें किस

चीज से छुटकारा दिलाना चाह रही हूं मैं अभी जो तुम्हें समझा रही हूं इसे जानना

तुम्हारे लिए अत्यंत आवश्यक है मेरे बच्चे कोई बाधा है जो निरंतर

तुम्हें रोक रही है मैं उस बाधा से तुम्ह मुक्त करना चाहती हूं मैं उस बाधा से

तुम्हें पूरी तरह से अलग कर देना चाहती हूं मैं नहीं चाहती कोई भी बाधा तुम्हारी

राह में रुकावट बने किसी में भी इतनी ताकत आ पाए कि वह तुम्हें हराने की साजिश रच

पाए मेरे बच्चे मैं तुम्हें षड्यंत्र में फसा हुआ नहीं देख सकती मैंने तुम्हे आजाद

उत्पन्न किया था मैं नहीं चाहती कि तु तुम किसी दूसरे मनुष्य की गुलामी करते करते

अपना जीवन बिता दो मैं नहीं चाहती कि थोड़े से धन के लिए तुम्हें किसी और की

चाटुकारिता करनी पड़े मैं यह भी नहीं चाहती कि अपना कार्य निकलवाने मात्र के

लिए तुम जाओ और किसी और की तारीफों के पुल बांधो जो तुम्हारे मन में नैसर्गिक बात आए

तुम केवल उसी तरह से अपना जीवन जियो जो तुम्हारा शरीर कहे केवल उसकी बात सुनो

अपने मन के आवरण पर चढ़े हुए बादलों की बात ना सुनो उन बातों को ना

सुनो जो समाज ने तुम्हें सिखाया है उन बातों को ना सुनो जो तुम्हारी मान्यताओं

ने तुम्हें सिखाया है मेरे बच्चे मुझे पता है तुम अपने जीवन में बहुत सारी चीजों को

लेकर चिंतित हो तुम्हें कोई राह भी नजर नहीं आ रही है जिससे कि तुम तुम सही मार्ग

पर निकल सको लेकिन अब जब समय बदल रहा है और अब जब मैं स्वयं ही आ रही हूं तुम्हारे

पास तुम्हारी समस्याओं का समाधान लेकर मेरे बच्चे तुमने अब तक जीवन में

बहुत सी मुश्किलों का सामना किया है तुम्हारा जीवन लगभग उस गुलाम की ही भाति

हो गया जो सदा ही दूसरों के अधीन रहकर काम करता है और इस वजह से तुम्हारे मन में

बहुत निराशा भी उत्पन्न होती है इस वजह से तुम्हारा मन सदा ही विचलित होता रहता है

तुम्हारे भीतर जितना प्रेम बसा है वह अद्भुत है लेकिन तुम यह नहीं जान पाए कि

उस प्रेम का प्रयोग कहां कब और कैसे करना है और इस वजह से तुम एक बेहतर मनुष्य होकर

भी जीवन का आनंद नहीं उठा पाते हो लेकिन मेरे बच्चे मैं तुम्हारी जैसी

दिव्य आत्मा को इस तरह से परे श नहीं देख सकती इसलिए मैं तुम्हारे लिए विभिन्न

प्रकार की योजनाएं बना रही हूं और अब समय आ गया है जब उन योजनाओं को तुम्हारे जीवन

में पूर्णत लागू कर दिया जाए जिससे तुम्हारा जीवन बेहतरीन हो सके तुम एक

सच्चे दिव्य आत्मा हो इसलिए तुम्हारे जीवन को बेहतर होना ही

चाहिए मेरे बच्चे अपनी समस्त चिंताओं का त्याग कर दो अपने मन से भय की जंजीरें

उखाड़ फेंको अपने भीतर आत्मविश्वास के सागर की मोतियां पिरो दो क्योंकि अब मैं

अपने दिव्य देव दूतों को भेजने के कार्य में लग गई हूं तुम्हारी सभी समस्याओं को

समाप्त कर तुम्हें बेहतर जीवन दिलाने के लिए यह दिव्य आत्मा जल्द ही तुम्हारे जीवन

में प्रवेश करेंगी यह सांकेतिक रूप से तुमसे बातें भी करेंगी यह तुम्हारा

मूल्यांकन करती रहेंगी यह तय करेंगी कि किस प्रकार से तुम्हारी सहायता की जानी

चाहिए और फिर कुछ समय बाद तुम यह देख पाओगे कि तुम्हारा जीवन पूरी तरह से

चमत्कारिक रूप से बदल रहा है मेरे बच्चे यही वह समय है जब तुम्हारे

जीवन में बेहतरीन मित्रों का भी प्रवेश होगा उन्हें अपने जीवन में आने की तुम्हें

अनुमति प्रदान करनी होगी यह तुम्हारे लिए आवश्यक है तुम्हारा जीवन अब पहले की भाति

बिल्कुल भी नहीं रहेगा बल्कि अब यह पूरी तरह से अद्भुत तरीके से चमत्कारिक रूपों

में बदल जाएगा अब तुम विशिष्ट लोगों में गिने जाओगे अब तुम सामान्य नहीं रहोगे अब

तुम सामान्यता से ऊपर उठ जाओगे मेरे बच्चे अब यह बहुत ज्यादा

परिवर्तनकारी रुख अपनाने वाला है अब एक ऐसे अध्याय का रे जीवन में उदय होने वाला

है अब एक नया जीवन शुरू होने वाला है इसे सहज स्वीकार करो इसे उतर जाने

दो मेरे बच्चे अपने जीवन को आशीर्वाद से भर लो तुम्हारे जीवन में आशीर्वाद ही

आशीर्वाद भेजा जा रहा है इसे हर हाल में स्वीकार कर लो अब संसार की कोई भी ताकत

तुम्हें हरा नहीं सकती है और अपनी जीत को अपने जीवन में जाने दो जीवन के हर क्षेत्र

में अब जीत को स्वीकार करो मेरे बच्चे यह वो क्षण है जब तुम्हें

अपने भीतर विस्तार कर बदलाव को अंगीकृत करना होगा बदलाव की धरा को प्रारंभ करना

होगा अब तक जो हुआ अब उस पर तुम्हारा कोई भी नियंत्रण नहीं है आगे आने वाले भविष्य

पर भी तुम्हारा कोई भी नियंत्रण नहीं है तुम्हारे लिए जो पर्याप्त है वह यही

वर्तमान है लेकिन मेरे बच्चे तुम अभी अपने वर्तमान से संतुष्ट नहीं हो तुम अभी अपने

वर्तमान में विभिन्न प्रकार की बातें सोचते रहते हो तुम्हें आशाओं से मुक्त

होने की आवश्यकता है और जब मैं आशाओं से मुक्त होने की बात तुम्हें बता रही हूं तो

मैं भूत के गलानी और भविष्य के चिंताओं से भी मुक्त होने की बात कर रही हूं मैं

तुम्हें नैसर्गिक रूप से मूलता तो तुम्हारी जो प्रकृति है उस तरह से जीवन

जीने की बात कह रही हूं मैं जो कह रही हूं उसके रहस्य में

उतरो मेरे बच्चे यदि तुमसे किसी ने कोई समय बता दिया भोजन करने का तो तुम्हें

अपनी मान्यता के अनुसार वही समय मान नहीं लेना है तुम्हें अपने शरीर की बात सुननी

है तुम्हें यह समझना है कि तुम्हारा शरीर कब भोजन की मांग करता है तुम्हारा शरीर

किस तरह के भोजन की मांग करता है ना कि यह कि तुम्हारा मन क्या चाहता है ना कि यह कि

लोगों ने तुम्हें क्या बताया है ना कि ये कि तुम्हें क्या खाना या पीना सिखाया गया

है मेरे बच्चे इन सब बातों से मुक्त होकर केवल अपने शरीर की बात सुनो क्या अच्छा है

क्या बुरा है इस तरह के बेवजह की बेफ जूल की बातों में मत पढ़ना सब कुछ इस प्रकृति

का है सब कुछ इस प्रकृति से ही लेना है सब कुछ इस प्रकृति को ही वापस भी लौटाना है

इसलिए तुम्हें बेवजह की बातों से मुक्त होकर के अपने नैसर्गिक रूप से जीना

प्रारंभ करना होगा अपने शरीर की बात अपने आत्मा की बात सुननी होगी ना कि अपने मन के

दबाव में आकर कार्य करना होगा जो तुमने अब तक सीखा है जो तुमने अब तक पढ़ा है जो

तुमने अब तक जाना है या फिर जो तुम्हें जनाया गया

है मेरे बच्चे तुम्हें इन बातों से अपने आप को स्वतंत्र करना होगा अब अपने आप को

उस पात्र की भाति बना देना होगा जिसके भीतर कुछ भी रखा हुआ ना हो और उसी क्षण

में उसमें दिव्य ज्ञान अभिभूत हो सकता है खाली पात्र में ही नया ज्ञान पर सजा सकता

है है जो पात्र पहले से ही भरा हुआ हो उसमें कोई भी नया ज्ञान डाला नहीं जा सकता

उड़ेला नहीं जा सकता फिर चाहे वह ज्ञान कितने ही दिव्यता से युक्त क्यों ना

हो इसलिए मेरे बच्चे अपने अज्ञान को अपना सारथी बनाकर ज्ञान की सारी परिभाषा हों को

त्याग कर नए सिरे से अपने जीवन को जीना प्रारंभ करो और यही वह पल होगा जब तुम नसर

रूप से अपने जीवन का ब्रह्मांडी विस्तार कर पाओगे और केवल तभी तुम उस दिव्य ईश्वर

से मिल पाओगे जिससे मिलने की चाह तुम्हारे मन में सदा से रही है लेकिन मेरे बच्चे जब

तक तुम ईश्वर को किसी मनुष्य के रूप में देखना प्रारंभ करोगे तब तक बहुत देर हो

चुकी होती है इसलिए तुम्हें ईश्वर को मनुष्य रूप में ना मानकर हर क्षण हर घड़ी

हर चीज में देखने की प्रक्रिया प्रारंभ करनी होगी मेरे बच्चे प्रत्येक जीव अपने अनुसार

अपने ईश्वर का निर्माण करता है लेकिन क्या यह सत्य होता है क्या यह वास्तविक होता है

क्या एक बिल्ली के मन में ईश्वर की छवि मनुष्य रूप में हो सकती है क्या उसकी

आकांक्षाओं में मनुष्य का भोजन हो सकता है क्या उसकी आकांक्षा में मनुष्य के जैसा

जीवन जीने की चा आ सकती है या फिर एक घोड़े के मन में क्या मनुष्य के रूप में

ईश्वर का स्वरूप हो सकता है या उसकी चाहत में मनुष्य के जैसा जीवन जीने की कामना हो

सकती है ऐसा नहीं होता इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें भी ईश्वर

को निराकार सत्य के रूप में प्रत्येक अणु में स्वीकार करना होगा साथ ही तुम्हें यह

समझना होगा कि सभी जीव की नैसर्गिक चाहत एक ही होती है प्रत्यक जीव अपने लिए बेहतर

घर की तलाश करता है बेहतर भोजन की तलाश करता है बेहतर साथी की तलाश करता है मौलिक

ढांचे के रूप में यह सब कुछ सबकी चाहत तुम्हें एक समान लग सकती है सबकी समस्याएं

तुम्हें एक समान लग सकती हैं लेकिन इसमें फिर भी अंतर है इसमें फिर भी परिवर्तन की

गुंजाइश है इसलिए तुम्हें अपनी चाहत और अपनी गहराई में उतरना होगा अपनी समस्याओं

के अंत तक जाना होगा केवल तभी तुम इससे छुटकारा पा सकते हो इससे निजात पा सकते हो

मेरे बच्चे जो मैं कह रही हूं इन रहस्यों को समझने का प्रयत्न करो नैसर्गिक रूप से

इसे जानने का प्रयत्न करो केवल ऊपरी और सतही बातों में मत रह जाना शाब्दिक अर्थ

निकालने पर आओगे तो अर्थ का अनर्थ हो जाएगा इसलिए इसकी भावनाओं के अंदर उतरना

इसको भावनात्मक रूप से महसूस करना मेरे बच्चे तुम्हें लगता है ना कि

तुम्हारी जीत कब होगी तुम निरंतर यह प्रश्न करते रहते हो कि वह कौन सा क्षण

होगा जब तुम्हें जीत मिलेगी मेरे बच्चे मैं तुम्हें बताना

चाहती हूं मैं तुम्हें समझाना चाहती हूं कि तुम्हारी जीत तुम्हारे बिल्कुल समक्ष

खड़ी है तुम एकदम जीत के अंतिम छोड़ तक आ चुके हो तुम उसे प्राप्त करने ही वाले हो

लेकिन तुम स्वयं के लिए ही बाधा बन रहे हो तुम्हारा मन बार-बार विचलित हो रहा है तुम

एक तरह की चाहत को कभी भी अपना नहीं पा रहे हो निरंतर तुम्हारी चाहतों में

तुम्हारे सोच में तुम्हारे वाक्यों में और तुम्हारे हाव भाव में चाल चलन में

परिवर्तन हो रहा है मेरे बच्चे जिस दिन तुम पूर्णत ध्यान

केंद्रित करके अपने मन वचन कर्म और वाणी से एक जैसा व्यवहार करने लगे उसी समय

तुम्हारा जीत के साथ सामंजस्य बैठ जाएगा और उसी समय विभिन्न देवी देवता भी

तुम्हारे समक्ष आ जाएंगे ऐसा नहीं है कि वह तुम्हें दिखाई

देंगे ऐसा नहीं है कि वह तुम्हारे समक्ष मनुष्य रूप में प्रकट हो जाए

लेकिन उनकी शक्तियों का एहसास तुम्हें होता रहेगा तुम उनकी दिव्यता को इतना

तीव्र महसूस कर पाओगे कि जैसा आज तक तुमने पहले कभी भी ना महसूस किया हो तुम उनके

अंतरमन को जान जाओगे तुम यह जान जाओगे कि तुम उनसे जोड़ चुके

हो मेरे बच्चे और उसी क्षण तुम्हारी जीत हो जाएगी और तत्काल तुम्हें वह सब कुछ मिल

जाएगा जि की तुमने चाहत की थी कुछ ऐसी भी चीजें जिनकी चाहत तुम करने में सक्षम नहीं

हो लेकिन वह तुम्हारे लिए आवश्यक है मेरे बच्चे तुम्हें एक एक करके वह सभी

चीजें हासिल हो जाएंगी वह सब कुछ प्राप्त हो जाएगा जो तुम्हारे जीवन के लिए आने

वाले जीवन के लिए भी आवश्यक है सब कुछ लिखा जा चुका है लेकिन तुम्हें सामंजस्य

से बिठाना होगा अपने आप से अपनी आत्मा से अपने वाणी से अपने कर्मों से और स्वयं को

कर्ता भाव से मुक्त रखना होगा मेरे बच्चे जब तुम स्वयं को कता भाव

से मुक्त रखते हो तो तुम्हें दुख या सुख दोनों ही दिखाई नहीं पड़ता तुम्हें केवल

दिखाई देता है तो हर जगह ईश्वर ही ईश्वर और हर चीज में हर कर्म में तुम्हें ईश्वर

की ही मर्जी दिखाई पड़ती है इसलिए मेरे बच्चे तुम्हें परमात्मा को

स्वीकार करना होगा अपनी बाधाओं को काटना होगा आगे बढ़ना होगा रहस्यवादी जीवन को

त्याग कर सरल जीवन की ओर कदम बढ़ाना होगा नए प्रेम को नए अध्याय को नए विस्तार को

नई चाहत को स्वीकार करना होगा और इसे पाने के लिए तुम्हें निरंतर अपने मन में अपने

वचनों में अपने कर्म में अपनी वाणी में अपनी क्रिया में इसकी पुष्टि करती रहनी

होगी मेरे बच्चे तुम्हें अभी पुष्टि करनी होगी संख्या लिखकर इसकी पुष्टि करो कि

तुम जीत को प्राप्त करना चाहते हो तुम अनुमति देते हो सभी दिव्य आत्माओं को सभी

पुण्य आत्माओं को सभी फरिश्तों को जो तुम्हारी सहायता करना चाहे हर किसी को तुम

अनुमति देते हो कि वह किसी भी रूप में आकर सकारात्मकता से तुम्हें सहायता प्रदान

करें तुम्हारे जीवन को प्रगतिशील बनाए तुम्हें आगे ले जाने में तुम्हारी मदद

करें यह सहायता भावनात्मक होगी यह सहायता सामाजिक होगी यह सहायता आध्यात्मिक होगी

यह सहायता आर्थिक होगी यह सहायता मानसिक भी होगी यह

सहायता तुम्हे असीम धन प्राप्त करने में असीम सुख प्राप्त करने में बेपना शांति

प्राप्त करने में तुम्हें मदद करेगी मेरे बच्चे सभी प्रकार से सभी

आयामों से सभी क्षेत्र से सभी दिशाओं में सहायता की पुकार लगा दो यह पुकार तुम्हें

अभी लिखना है साथ ही अपने मन में सोचते रहना है तुम सहायता के पात्र बन चुके

हो मेरे बच्चे तुम्हारे लिए यह आवश्यक है यह दिव्यता से भरा हुआ होगा यह किसी

सामान्य मनुष्य के कर्म का परिणाम नहीं होगा यह ईश्वर द्वारा कराया गया होगा यदि

यह सामान्य मनुष्य से भी आएगा तब भी यह ईश्वर का ही परिणाम है ईश्वर का ही आदेश

है इसका प्रयोजन केवल तुम्हें आगे ले जाना प्रगतिशील बनाना और बेहतर जीवन जीने के

लिए तुम्हें प्रेरित करना है तुम्हे राह पर ले जाना है मेरे बच्चे एक बात सदा याद

रखना चाहे कोई तुम्हारा साथ दे या ना दे चाहे किसी भी रूप में तुम तक सहायता

पहुंचे या ना पहुंचे चाहे तुम्हारी पुकार द्वारा कोई भी दिव्य आत्मा तुम तक पहुंचे

या ना पहुंचे लेकिन वह ईश्वर तुम्हारे साथ है मैं सदा तुम्हारे साथ हूं मैं तुम्हें

कभी अकेला नहीं छोडूंगी पर स्थितियां चाहे तुम्हारे विपरीत में हो चाहे ब्रह्मांड का

प्रत्येक अनु प्रत्येक परमाणु प्रत्येक जीव अजीव निर्जीव सजीव सभी तुम्हारे खिलाफ

क्यों ना खड़े हो जाए तब भी मैं तुम्हारे साथ रहूंगी

क्योंकि तुम मुझे अत्यंत प्रिय हो तुम एक पवित्र पुण्य आत्मा हो जिसे प्रगतिशील

होना ही पड़ेगा इसलिए मेरे बच्चे मैं तुम्हारा साथ

नहीं छोडूंगी मैं सदैव तुम्हारे साथ रहूंगी विभिन्न रूपों में तुम्हारे पास ही

रहूंगी मेरा आशीर्वाद सदा तुम्हारे साथ रहेगा इसलिए मुझसे खुद को अलग करने की

मुझसे खुद को अलग समझने की भूल कभी ना करना मेरे आने वाले संदेशों की प्रतीक्षा

में रहना मैं आऊंगी तुम्हें सही मार्ग पर ले जाने के लिए तुम्हारा मार्ग दर्शन करने

के लिए तुम्हारा कल्याण हो जय हो माता रानी हर हर

महादेव मेरे बच्चे तुम हारते तभी हो जब तुम प्रयास करना छोड़ देते हो क्योंकि

मनुष्य तब तक नहीं हारता जब तक वह प्रयास करना नहीं छोड़ता है तुम इतने भाग्यशाली

हो जो तुम्हें मानव जीवन प्राप्त हुआ है एक ऐसा जीवन जो सभी जीवों में श्रेष्ठ है

क्योंकि मानव के पास ही एक विकसित बुद्धि है इस बुद्धि का सही प्रयोग करें तुम वह

भी जान सकते हो जो विज्ञान के लिए भी दुर्लभ है मेरे बच्चे अपने मानव शरीर में

तुम ईश्वर की भक्ति के चरम शिखर को स्पष्ट कर सकते हो केवल यही नहीं मानव शरीर में

रहते हुए तुम अपने उस मानव उद्देश्य को पूरा कर सकते हो जिसके लिए तुम्हें धरती

पर भेजा गया है मेरे बच्चे आज तुम्हारे पास भले ही कोई

संसाधन ना हो अपने लक्ष्य को पाने के लिए लेकिन तुम्हारे पास तो यह शरीर और मानव

बुद्धि है जो सबसे बड़ा बहुमूल्य संसाधन है जिसके बल पर तुम यह सृष्टि जीत सकते

हो मेरे बच्चे मानव जीवन अति दुर्लभ है इसे यूं ही व्यर्थ ना जाने दो ना ही कल का

इंतजार करो जो करना है उसे आज ही करो क्योंकि अनेक संभावनाओं के द्वार उसी क्षण

खुल जाते हैं जिस क्षण तुम पहला कदम उठाते हो मुझे पूर्ण विश्वास है तुम इस संदेश

में बताए बातों को गंभीरता से अपने जीवन में उतार लोगे और अपने उस सपने को पूरा

करोगे जो मैंने तुम्हारे लिए भेजा है मेरे बच्चे तुम मुझे अपनी माता मानते हो तो हां

लिखकर इस संदेश को लाइक करें मेरे बच्चे जो भीड़ में ना चलते हुए अपने

हृदय की आवाज सुनता है वह एक ऐसे मार्ग का निर्माण करता है जो उसे सफलता के शिखर तक

पहुंचा देता है मेरे बच्चे तुम उन्हीं लाखों में से एक हो इसी कारण तुम सबसे अलग

हो इसलिए तुम्हें अपनी तुलना दूसरों से नहीं करनी चाहिए कौन कितना प्रसन्न है यह

तो संभव व्यक्ति ही जाने क्योंकि जिस युग में सब कुछ एक और बन गया

हो वह किसी की वास्तविकता पर प्रसन्नता का अनुसार कैसे लगाया जा सकता है जो दिखाई दे

वही सच हो या आवश्यक नहीं लेकिन मेरे बच्चे तुम दिव्य हो तुम

इस जीवन में भीड़ के पीछे चलने वाले नहीं हो तुम्हें तो उस रास्ते पर चलना है जहां

सारी भीड़ तुम्हारे पीछे चले क्या तुम तैयार हो उस रास्ते पर चलने के लिए तो कहो

मैं तैयार हूं अपने दिव्य शक्ति से जुड़ने के लिए मेरे बच्चे जिसका मिलना भाग्य में

लिखा होता है भगवान उसको एक ना एक दिन किसी ना किसी रूप में अवश्य मिलते हैं

धैर्य रखो इतना चिंता ना करो सही समय आने पर तुम्हारे पास वह सब कुछ आ जाएगा जिसके

लिए तुमने परिश्रम की है मेरे मेरे बच्चे तुम यह चिंता करना छोड़ दो कि लोग

तुम्हारे बारे में क्या सोच रहे हैं क्योंकि वह तो स्वयं इस चिंता में डूबे

हैं कि तुम उनके बारे में क्या सोचते हो जो तुम्हारा ना हुआ उस पर कभी हक मत

जताना ऐसा मत करना और जो तुम्हें समझ ना सके उसे कभी अपना दुख मत

बताना मेरे बच्चे इंसान हसता सबके साथ रोता केवल उसी के सामने है जिस पर उसे खुद

से ज्यादा भरोसा होता कभी भी यह महत्व नहीं रखता कि तुम्हारा दिन कितना कठिन था

तुम आज से दोबारा शुरू कर सकते हो मेरे बच्चे किसी से मोह इतना भी ना करो

कि उसकी बुराइयां छुप जाए और घृणा भी इतना ना करो कि अच्छाई ही ना दे जिस पथ पर

ईश्वर को छोड़कर कोई भी साथ ना दे तो समझ जाओ जो होने वाला है वह साथ देने वालों के

बस की बात नहीं है मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ

है मेरे बच्चे यदि तुम मेरा संदेश देख पा रहे हो तो निश्चित ही तुम्हारे जीवन में

यह घटना होने वाली है जिस प्रकार गहरी बढ़ती ठंड और ओस की बूंदे जब घास पर पड़ती

है तो वह चमकने लगती है और हीरे की तरह सुंदर दिखाई दे है इसी तरह जीवन में

कभी-कभी कुछ ऐसा अचानक होता है जो ओस की बूंद की तरह हीरे की तरह चमकता दिखाई देता

है जबकि सभी को पता होता है कि वह ओस की बूंदे केवल मात्र पानी की तरह फिर भी वह

इतनी सुंदर दिखने में लगता है मेरे बच्चे जीवन में तुमको ऐसे ही दौर से गुजरना है

जिसके लिए मैं पहले ही तुम्हें बता देना चाहती हूं एक ऐसा समय तुम्हारे वजह से

सबको सबसे ज्यादा लोगों को बहुत खुशी मिलती है आगे आने वाले समय में जो

तुम्हारे साथ होगा वह अभी तुम्हें दिखाई देगा जो तुम्हें दिखाई देगा वह बिल्कुल

तुम्हारे साथ है कुछ अलग हटकर विपरीत दिशा में एक कैसा कार्य होगा तुम्हें आश्चर्य

में डाल सकता है और वह किसी घटना से कम नहीं हो सकता है न तुम्हारे जीवन में

अच्छा ही होगा क्योंकि मेरे बच्चे जो तुम सोचते हो

वह सही होना चाहिए लेकिन जो मैं तुम्हारे लिए सोचती हूं वह अवश्य ही सही होगा और

वही मैं करती हूं इसलिए तुम्हारे जीवन में ऐसी तीन घटनाएं होंगी जिसमें से यह पहली

घटना तुम्हारे साथ होने वाली है मेरे बच्चे तुम किसी ने कार्य के लिए काफी समय

से प्रयास कर रहे हो और पूरी परिश्रम लगाकर उस पर तुम्हारा ध्यान केंद्रित

हो लेकिन तुम इस बात का ध्यान रखना कि आगे आने वाले समय में तुम्हारा ध्यान विचलित

होने वाला है और तुम्हारी इकट्ठी की हुई शक्ति तुम्हारी इसी काम पर लगेगी

दूसरा तुम्हें एक बहुत बड़ी मंजिल पर पहुंचते रह जाओगे जबकि तुमने बहुत श्रम

किया लेकिन फिर भी तुम उस मंजिल पर पहुंचने से शीघ्र असफल हो जाओगे ऐसा इसलिए

होगा क्योंकि तुम्हारी की गई परिश्रम उस मंजिल के लिए अभी भी कम है और तीसरा यह है

कि कोई है जो तुम्हें छोड़कर जाने वाला है वह तुम्हारा संगत साथी भी हो सकता है जीवन

साथी भी हो सकता है या कोई अपना खास हो सकता है कुछ दिनों के लिए नहीं बक वह

तुम्हे हमेशा छोड़ जाने की कोशिश कर रहा है उसका संभव प्रयास है कि वह तुमसे पीछा

छुड़ाकर चला जाए इसलिए मेरे बच्चे तुम थोड़ा सावधान हो

जाओ क्योंकि तुम अपने तरफ से ऐसी कोई गलती मत करना कि वह व्यक्ति रुष्ट होकर तुमसे

दूर चला जाए क्योंकि कई बार तुम्हारे करीब रहने वाले ही तुम्हारी गलती की वजह से ही

तुमसे दूर दर चले जाते हैं इस बात को समझना तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है मेरे

बच्चे संभल करर रखे हुए कदम तुम्हें किसी भी घटना से बचा सकते हैं ऐसे में मेरी

शक्तियों को प्राप्त कर एक सुरक्षा कवच बनाकर तुम्हें सावधान रहना

होगा मेरे बच्चे जिससे कि तुम आने वाली हर घटना से बच जाए इसलिए जो मैं तुम्हें बता

रही हूं उसे ध्यान से सुनो सुबह के समय शांत मन से तुमको कुछ समय के लिए मेरे ऊपर

ध्यान केंद्रित कर गहरी सांस लेकर तुम बोलना प्रारंभ करो मेरे जीवन में मेरी माता की कृपा से

जो होगा सब अच्छा हो यह तुम्हें बार ध्यान देकर करना है इस कार्य को प्रतिदिन

करना तुम अपने जीवन में हर तरह की सुरक्षा प्राप्त कर

पाओगे मेरे बच्चे जो तुम कर सकते हो जो तुम चाहते हो तुम जब भी किसी घटना से बचना

चाहते हो यदि तुम किसी भी काम को करने में ज्यादा प्रसन्न रहोगे तो अपने जीवन को तुम

स्वयं बचा सकते हो क्योंकि इस प्रकार की शक्ति तुम्हें मैंने स्वयं दे रखी है अगर

कुछ कमी है तो तुम्हें खुद के हृदय से महसूस करने की जिस दिन तुम अपने हृदय की

शक्ति को पहचान लोगे उसी दिन तुम हर मुसीबत से बच जाओगे और आने वाली हर मुसीबत

तुमसे कोसो दूर रहेगा क्योंकि मेरे बच्चे भक्ति ही वह चीज

है जो तुम्हें हर मुसीबत से बचा सकता है और अनिश्चित घटना से तुम स्वयं ही बच

जाओगे जो तुमने कल्पना किया अब वह सब होने वाला है और कुछ ऐसा भी होगा जो तुमने

कल्पना भी नहीं की होगी मेरे बच्चे कुछ बहुत ही अच्छा होने वाला है अब तुम अपने

जीवन में एक शक्तिशाली पड़ाव पर हो तुम पूरी तरह से तैयार हो अपना भविष्य खुद

बनाने के लिए मेरी पूरी शक्तियां तुम्हारे सहायता के लिए तैयार है तुम चमत्कार और

जादू के दिव्य रूप से घिरे हुए हो मेरे बच्चे मैं तुमसे बहुत प्रेम करती

हूं और मैं सोचती हूं कि तुम चमत्कार और जादू के दिव्य रूप से घिरे हुए

रहो मेरे बच्चे मैं तुमसे बहुत प्रेम करती हूं और मैं सोचती हूं कि अपने जीवन को रोज

उत्साह की तरह जियो तुम साधारण बच्चे नहीं हो तुम में मेरी शक्तियां विराजमान है तुम

इस शक्ति को पहचानते नहीं हो लेकिन अब समय गया है अपने अंदर छिपी

शक्तियों को पहचानो क्योंकि सच अब यही है मेरे बच्चे

तुम्हारा डरना विचलित होना अपने आप को कोसना संदेह करने का मतलब है कि तुम मेरे

मेरे ऊपर विश्वास नहीं करते हो मेरे करीब रहने के लिए भक्ति जरूरी है मेरे बच्चे

क्या तुम्हें मुझ पर विश्वास है तुम्हें एक नए जीवन के शिखर पर हो तुम्हारे लिए सब

कुछ बदलेगा रास्ते में आने वाले बाधाएं दूर हो जाएंगी अब एक नई खुशहाल चरण में

कदम रखो यह दिव्य अवसर अगले एक महीने तुम्हारे जीवन में प्यार भाग्य खुशी और नए

अवसरों के रूप में आने वाला है जीवन पूरी तरह से बदलने वाला है यह ऐसा

है जैसे तुम्हारा मार्ग दिव्य रूप में दिशा बदल रहा है तुम्हें अधिक धन भाग और

अधिक खुशी की ओर ले जाया जा रहा है मेरे बच्चे तुम्हें मुझ पर भरोसा है

मैं तुम्हारे उत्तर का इंतजार करूंगी मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ है बस तुम मुझ

पर विश्वास बनाए रखो मैं तुम्हें उस दिशा में ले जा रही हूं जहां पर तुम्हारे लिए

सिर्फ और सिर्फ खुशियां ही खुशियां है मेरे बच्चे आज मैं तुम्हें यह संदेश एक

विशेष उद्देश्य के लिए भेज रही हूं अतिशीघ्र मेरा संदेश तुम तक पहुंच जाएगा

लेकिन मैं जानती हूं कि तुम तक पहुंचने से इसे रोकने का प्रयास अवश्य किया

जाएगा मेरे बच्चे अपने सपनों की ओर पहला कदम उठाने का यही सही वक्त है इसलिए अब

तनिक भी देर मत करो तुम्हारे द्वारा उठाए गए कदम नए परिस्थितियों का निर्माण करेंगी

और वह परिस्थितियां तुम्हारे आने वाली सुंदर भविष्य का निर्धारण

करेंगी मेरे बच्चे जिस प्रकार मानव की ऊर्जा में निरंतर बदलाव होता है आकाश में

विचरण करने वाले चंद्रमा की स्थिति की भी समय समय पर बदलता रहती है आज के इस संदेश

में जान लो तो अब से तुम्हारी सारी समस्या खत्म हो

जाएगी यह दिव्य शक्ति तुम्हें हर कष्ट से बचाने की शक्ति रखता है इसे साधारण शक्ति

समझने की भूल मत करना वरना बहुत बड़ा मुश्किल हो जाएगा

मेरे बच्चे आज का संदेश सारी सुख सुविधा तुम्हारे कदमों में लाकर देने वाली है

इसलिए इस संदेश को छोड़कर जाने की गलती मत करिएगा मेरे बच्चे हर व्यक्ति के मन में

एक सच्चे और अच्छे जीवन साथी को पाने की कामना होती है क्योंकि वह जीवन साथी

मृत्यु तक उसका साथ निभाता है उसके सुख दुख में उसके साथ खड़ा रहता है तुम्हारे

मन में भी एक ऐसी ही इच्छा है तुमने भी अपने मन में एक छवि बना रखी है कि मां

मुझे ऐसा जीवन साथी चाहिए जो मुझसे दिल से जुड़ सके जो मुझे मेरी भावनाओं को बिना

कुछ कहे समझ सके जो मेरे दर्द पर रोए जिसकी खुशी मेरी खुशी हो और मेरी हंसी में

वो हंसी तुम्हें ऐसा लगता है कि जिस दिन तुम्हें वह प्रेम मिल गया तुम पूरे हो

जाओगे जैसे शिव पूरे हो गए थे शक्ति को पाने के बाद मेरे बच्चे मुझे पता है तुम्हारा पहला

प्रेम सफल नहीं हुआ तुम्हें उसमें धोखा मिला तुमने सोचा था कि तुम उस व्यक्ति से

विवाह करोगे अपना घर बसा पाओगे लेकिन वह हो नहीं पाया और अब तुम्हें डर लगता है

फिर से किसी पर यकीन करने में फिर से किसी के साथ घर बसाने के सपने देखने में

लेकिन मेरे बच्चे तुम जैसे व्यक्ति की कामना कर रहे हो वैसा ही जीवन साथी मैंने

लिखा है तुम्हारी किस्मत में वह तुमसे तुम्हारे रंग रूप को देख के आकर्षित नहीं

होगा वह तुम्हारी आत्मा से जुड़ेगा क्योंकि वह तुम्हारा असली जीवन साथी होगा

जिसकी इच्छा तुमने बचपन से की है मेरे बच्चे तुम जब भी रोए तुम्हें ऐसा लगा है

कि मां कोई ऐसा होता काश कोई ऐसा होता जो बिना कुछ कहे बिना मेरे व्यक्तित्व पर

उंगली उठाएं मेरी बातें सुनता तो ऐसा ही व्यक्ति आएगा और वह बिल्कुल तुम्हारे जैसा

ही होगा मेरे बच्चे तुम किसी से जल्दी घुलमिल नहीं पाते हो तुम्हें बहुत समय लगता है

लोगों के सामने खुलकर अपने बात रखने में उन पर यकीन करने में और वह भी वैसा ही

होगा क्योंकि उसके साथ भी अतीत में बहुत बुरा हुआ है उसे यह बात बहुत अच्छे से पता

है कि दिल टूटना कैसा होता जब किसी को धोखा मिलता है तो कैसा

लगता है यह सब बातें उसे बहुत अच्छे से पता है और वह भी गिर कर उठा होगा जैसे तुम

गिर कर उठे होगे तुम अतीत में जितने भी व्यक्तियों से मिले तुम्हें कभी सच्चा प्रेम नहीं मिला

तुम्हें हमेशा धोखे में रखा गया पूरी सच्चाई कभी तुम्हारे सामने नहीं

आई लेकिन जिस व्यक्ति से तुम्हारा विवाह होगा जो तुम्हारा जीवन साथी बनेगा उसमें

पारदर्शिता है जैसे तुमने मुझ पर हमेशा यकीन रखा अध्यात्म के रास्ते पर चलकर मुझ

पर विश्वास दिखाया तो वैसे ही वह व्यक्ति बहुत आध्यात्मिक होगा एक अटूट विश्वास है

उसके अंदर ईश्वरीय शक्ति जब तुम उससे मिलोगे तो तुम्हें ऐसा

लगेगा कि तुम्हारी ही छवि है और इसलिए वह तुम्हें सबसे अच्छे तरीके से समझ

पाएगा मेरे बच्चे उससे मिलने के बाद तुम्हें यह समझ में आएगा कि असली जीवन

साथी होता क्या है तुम मुझे अपनी माता मानते हो तो हां टाइप करके इस संदेश को

लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब अवश्य कर लीजिए तुम्हारा कल्याण

होगा मेरे बच्चे उससे मिलने से पहले उसे अपनाने से पहले तुम थोड़ा

हिचकिचाहट ने तुम्हें अंदर से इतना तोड़ दिया है कि तुम्हें उसकी बातें छलावा

लगेगी तुम्हें ऐसा लगेगा कि कोई व्यक्ति इतना

अच्छा नहीं हो सकता है और अगर कोई व्यक्ति अच्छा है भी तो वह मुझे क्यों मिलेगा तो

अब अपने अतीत को पीछे छोड़ देना मेरे बच्चे मुझे पता है तुम्हें यह

लगेगा कि माता मैं इतना बड़ा खतरा नहीं ले सकता मैं वापस अपने जीवन में यह खेल नहीं

खेल सकता मेरे अंदर इतना साहस नहीं है कि मैं फिर से किसी पर यकीन करूं किसी से

प्रेम करू और फिर से मेरे साथ धोखा हुआ तो

लेकिन एक बार अपनी माता के कहने पर वह खेल खेल लेना अपने साथ क्योंकि इस बार इस खेल

में तुम रोगे नहीं वह जो बचपन का खेल था गुड्डे गुड़ियों का वह अब सच

होगा मेरे बच्चे अब तुम खुश रहोगे इस बार वह व्यक्ति तुम्हारे भावनाओं के साथ कभी

नहीं खेलेगा क्योंकि इस पूरे संसार से इतने अच्छे से कोई तुम्हें नहीं समझता

जितना अच्छे से वह तुम्हें समझेगा वह तुम्हारा साथ देगा मेरे बच्चे मेरा आशीर्वाद सदैव

तुम्हारे साथ है मेरा आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए लिखकर मुझे अपनी स्वीकृति

प्रदान करा देना और अपनी माता का अगला संदेश प्राप्त करने के लिए अपनी माता के

इस संदेश को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब अवश्य कर लेना ताकि आने वाला आपकी माता का

संदेश आपको प्राप्त हो सके जय हो माता रानी हर हर

महादेव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *