गुप्त नवरात्रि में सुनें अत्यंत शक्तिशाली दसमहाविद्या स्तोत्रम् - Kabrau Mogal Dham

गुप्त नवरात्रि में सुनें अत्यंत शक्तिशाली दसमहाविद्या स्तोत्रम्

:
को एक ओम नमस्ते चंडी क्वेश्चन डे
:
जेनेरियो नाशिनी
:
नमस्ते कालों के काल
:
महाकाल भैया अविनाश ईंधन विरक्ष जगत धातृ
:
ईएस प्रसिद्ध हर्बल अभय प्रणमामि जगत धातृ
:
मीडिया जगत पालन
:
कारिणी जगत छोभ क्रीम विद श्याम
:
जगत सृष्टि
:
विधाई नींद
:
कलाम विकेट आमगांव राम
:
मुंडमाला भूषिताम्
:
कि हर और शैतान ह राधेश्याम
:
[संगीत]
:
नमामि हरिबल्लभ अन
:
मां गौरी नमः ओम गुरु प्रणाम
:
गौरवर्ण अलंकार भूषिताम्
:
[संगीत]
:
कि हरी प्रभाव महामाया नाम
:
नमामि ब्रह्म सुपूजित आम
:
सिध्णामं
:
सिद्धेश्वरी ईएस सिद्ध विद्या धर्म गणेश
:
गुप्ता धाम
:
[संगीत]
:
इस मंत्र से ध्यान प्रदान
:
योनी सिद्धिदायक लिंग शोभित आउने प्रणमामि
:
महामाया इन
:
दुर्गम दुर्गतिनाशिनी
:
कि उक्त ग्राम अगर मीडियम
:
उग्रतारा मुद्रण प्रयुक्त आम
:
नीलाम नील घनश्याम
:
नाम आमीन धूल सुंदरी
:
[संगीत]
:
में श्याम आयेंगे इक शाम घटित आम
:
श्यामवर्ण विभाग शैतान राम
:
कि प्रणमामि
:
जगद्धात्री ईएस गौतम सर्वार्थ साधिके ने
:
विश्वेश्वरी महाघोर हम
:
विकेट आम धारणा धुंध
:
[संगीत]
:
और आध्यात्म का बजे गुरु राधेश्याम
:
आदित्यनाथ प्रभु जी धाम
:
ओम श्री दुर्गा धाम धाम
:
अन्नपूर्णा
:
पद्मा सुरेश्वरी ईएस प्रणमामि जगत धातृ
:
[संगीत]
:
चंद्रशेखर वल्लभ कम कि त्रिपुरा सुंदरी
:
ईएस भला मुकाबला गण भूषिताम्
:
शिव धोते ओम शिवा राधेश्याम
:
स्वयं सनातनि
:
[संगीत]
:
और सुंदर इन तारिणी मिश्र और शिवा गण
:
विभाग शैतान राम
:
ओम नारायण विष्णु को श्याम
:
ब्रह्मा विष्णु हर प्रणाम
:
सर्वसिद्धिप्रद आम
:
नित्य श्याम श्याम वर्ण वर्ग नेताम
:
सगुण और निर्गुण आम
:
राधेश्याम अर्चिता हम सर्व सिद्धि दाम
:
कि वे स्वयं से धो प्रदान उनर व्यायाम
:
महाविद्या
:
महेश्वरी ई एम
:
कि महेश भक्त आम महेश एम
:
महाकाल प्रभु जी ताम
:
प्रणमामि जगत धातृ
:
ईएस चुभे सुरवीर विदीन ठेर
:
कि रक्त प्रणाम रक्त
:
वर्णन
:
रक्तबीज भ्रमर
:
धुंध भैरवी संभावना कम देवी ईद लो लो जब
:
हम
:
सुरेश्वरी ईएस कि चतुर्भुजा उम्र हजार
:
पाउने
:
अष्टादशभुजा ओम शुभ काम
:
कि स्त्री पूरे शेम विश्वनाथ प्रणाम
:
विश्वेश्वरी मीडियम शिवाम
:
को हटा
:
मटर हंस
:
प्रेम धूम्र विनाशिनी
:
[संगीत]
:
का काम अलार्म चिन्ह फलन
:
शब्द
:
मातंगे इस वर्ष सुंदरी ई एम
:
कि षोडशीम् विजय एम भी मां धूम रामचरण
:
बगलामुखी विंग
:
कि सर्व-सिद्ध-प्रद आम
:
सर्व दिव्य मंत्र विश्नोई धोनी
:
कि प्रणमामि जगत व राम
:
सा राम श्याम मंत्रसिद्ध पढें
:
कि इत्येवं शुक्रवार आरोप है है तो तमाम
:
सिद्ध कर्म परम
:
पठित्वा मुख समाधान अतिथि
:
सत्य नंबर गिरी नंदिनी
:
[संगीत]
:
कि कोई जवारे चतुर्दश बादाम
:
पध जी बाढ़ आश्रय
:
कि शो करे नीतिगत एप्स तो तुम
:
पठित्वा मौसम आपने हात रेप अश्लील मंत्र
:
सिद्ध युक्त स्तोत्रपाठ आदि शंकर मीडिया
:
चतुर दृश्याम निशा भागे इस शनि भ्रम दिन
:
तक आखिरी निशा मुखेड पठेत् स्तोत्रं
:
[संगीत]
:
मंत्र-सिद्धिमवाप्नोति देवता च आइस
:
केवलम स्तोत्रपाठ आदि
:
मंत्र सिद्ध विरण
:
ताण
:
जागते खतम चंडे
:
तो त्रिपाठ आप भोजन गिनी
:
कि यह तेरी मुंड माला तंत्रोक्त दश
:
महाविद्या स्तोत्रम् संपूर्णम्
को एक ओम नमस्ते चंडी क्वेश्चन डे
:
जेनेरियो नाशिनी
:
नमस्ते कालों के काल
:
महाकाल भैया अविनाश ईंधन विरक्ष जगत धातृ
:
ईएस प्रसिद्ध हर्बल अभय प्रणमामि जगत धातृ
:
मीडिया जगत पालन
:
कारिणी जगत छोभ क्रीम विद श्याम
:
जगत सृष्टि
:
विधाई नींद
:
कलाम विकेट आमगांव राम
:
मुंडमाला भूषिताम्
:
कि हर और शैतान ह राधेश्याम
:
[संगीत]
:
नमामि हरिबल्लभ अन
:
मां गौरी नमः ओम गुरु प्रणाम
:
गौरवर्ण अलंकार भूषिताम्
:
[संगीत]
:
कि हरी प्रभाव महामाया नाम
:
नमामि ब्रह्म सुपूजित आम
:
सिध्णामं
:
सिद्धेश्वरी ईएस सिद्ध विद्या धर्म गणेश
:
गुप्ता धाम
:
[संगीत]
:
इस मंत्र से ध्यान प्रदान
:
योनी सिद्धिदायक लिंग शोभित आउने प्रणमामि
:
महामाया इन
:
दुर्गम दुर्गतिनाशिनी
:
कि उक्त ग्राम अगर मीडियम
:
उग्रतारा मुद्रण प्रयुक्त आम
:
नीलाम नील घनश्याम
:
नाम आमीन धूल सुंदरी
:
[संगीत]
:
में श्याम आयेंगे इक शाम घटित आम
:
श्यामवर्ण विभाग शैतान राम
:
कि प्रणमामि
:
जगद्धात्री ईएस गौतम सर्वार्थ साधिके ने
:
विश्वेश्वरी महाघोर हम
:
विकेट आम धारणा धुंध
:
[संगीत]
:
और आध्यात्म का बजे गुरु राधेश्याम
:
आदित्यनाथ प्रभु जी धाम
:
ओम श्री दुर्गा धाम धाम
:
अन्नपूर्णा
:
पद्मा सुरेश्वरी ईएस प्रणमामि जगत धातृ
:
[संगीत]
:
चंद्रशेखर वल्लभ कम कि त्रिपुरा सुंदरी
:
ईएस भला मुकाबला गण भूषिताम्
:
शिव धोते ओम शिवा राधेश्याम
:
स्वयं सनातनि
:
[संगीत]
:
और सुंदर इन तारिणी मिश्र और शिवा गण
:
विभाग शैतान राम
:
ओम नारायण विष्णु को श्याम
:
ब्रह्मा विष्णु हर प्रणाम
:
सर्वसिद्धिप्रद आम
:
नित्य श्याम श्याम वर्ण वर्ग नेताम
:
सगुण और निर्गुण आम
:
राधेश्याम अर्चिता हम सर्व सिद्धि दाम
:
कि वे स्वयं से धो प्रदान उनर व्यायाम
:
महाविद्या
:
महेश्वरी ई एम
:
कि महेश भक्त आम महेश एम
:
महाकाल प्रभु जी ताम
:
प्रणमामि जगत धातृ
:
ईएस चुभे सुरवीर विदीन ठेर
:
कि रक्त प्रणाम रक्त
:
वर्णन
:
रक्तबीज भ्रमर
:
धुंध भैरवी संभावना कम देवी ईद लो लो जब
:
हम
:
सुरेश्वरी ईएस कि चतुर्भुजा उम्र हजार
:
पाउने
:
अष्टादशभुजा ओम शुभ काम
:
कि स्त्री पूरे शेम विश्वनाथ प्रणाम
:
विश्वेश्वरी मीडियम शिवाम
:
को हटा
:
मटर हंस
:
प्रेम धूम्र विनाशिनी
:
[संगीत]
:
का काम अलार्म चिन्ह फलन
:
शब्द
:
मातंगे इस वर्ष सुंदरी ई एम
:
कि षोडशीम् विजय एम भी मां धूम रामचरण
:
बगलामुखी विंग
:
कि सर्व-सिद्ध-प्रद आम
:
सर्व दिव्य मंत्र विश्नोई धोनी
:
कि प्रणमामि जगत व राम
:
सा राम श्याम मंत्रसिद्ध पढें
:
कि इत्येवं शुक्रवार आरोप है है तो तमाम
:
सिद्ध कर्म परम
:
पठित्वा मुख समाधान अतिथि
:
सत्य नंबर गिरी नंदिनी
:
[संगीत]
:
कि कोई जवारे चतुर्दश बादाम
:
पध जी बाढ़ आश्रय
:
कि शो करे नीतिगत एप्स तो तुम
:
पठित्वा मौसम आपने हात रेप अश्लील मंत्र
:
सिद्ध युक्त स्तोत्रपाठ आदि शंकर मीडिया
:
चतुर दृश्याम निशा भागे इस शनि भ्रम दिन
:
तक आखिरी निशा मुखेड पठेत् स्तोत्रं
:
[संगीत]
:
मंत्र-सिद्धिमवाप्नोति देवता च आइस
:
केवलम स्तोत्रपाठ आदि
:
मंत्र सिद्ध विरण
:
ताण
:
जागते खतम चंडे
:
तो त्रिपाठ आप भोजन गिनी
:
कि यह तेरी मुंड माला तंत्रोक्त दश
:
महाविद्या स्तोत्रम् संपूर्णम्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *