काली मां यदि अनदेखा किया तो मुझ से बुरा कोई नहीं होगा - Kabrau Mogal Dham

काली मां यदि अनदेखा किया तो मुझ से बुरा कोई नहीं होगा

[संगीत]

मेरे प्यारे भक्तों आज मैं तुम्हें अपने

दिव्य दर्शन देने के लिए एक बार फिर आई

हूं आज मुझे अनदेखा मत करना मेरे

बच्चे मुझे पता है तुम आज मेरा इंतजार कर

रहे थे तुम्हारे इंतजार की घड़ी अब समाप्त

हो गई है मैं तुम्हारे पास आ चुकी

हूं परंतु मेरे बच्चे मुझे आने में विलम

इसलिए हो गया क्योंकि मैं तुम सबके

संदेशों को सुन रही थी जो तुम मुझसे दिन

रात करते रहते हो आज का दिन मेरा है और

मैं तुम्हें आज कुछ महत्त्वपूर्ण बातें

बताने जा रही हूं इसलिए मेरे बच्चे तुम

मेरी हर एक बात को ध्यानपूर्वक सुनना और

अपने मन के भीतर उन बातों को ठीक प्रकार

से बैठा

लेना मैं आज आई हूं तुम्हारे सारे कष्टों

को दूर कर ने के लिए तुम्हें हर दुख से

उभारने के लिए जो तुम इस समय उठा रहे हो

तुम घबराओ मत मेरे बच्चे तुम जो बार-बार

अपने मन में यह सोच रहे हो कि मैं किसी

कार्य में सफल नहीं हो सकूंगा तो यह

तुम्हारी सबसे बड़ी भूल है क्योंकि

तुम्हारी माता तुम्हारे साथ है तुम बस

ठहरीय रखो और मुझ पर विश्वास रखो तुम्हारे

सारे कार्य खुद ही पूरे होने लगेंगे

प्र बच्चे मैं तुमसे एक प्रश्न करना चाहती

हूं कि तुम इतने दुखी क्यों रहते हो तुम

इतनी जल्दी खुद से क्यों हार मान जाते हो

तुम स्वयं को इतनी जल्दी टूटने क्यों देते

हो जब तुम जानते हो कि तुम्हारी माता

तुम्हारे साथ हैं तो तुम खुद को मत टूटने

दो स्वयं को आत्मविश्वास से भरो और अपने

जीवन में अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते चलो

तुम्हें जिन कार्यों में अभी सफलता मिल

रही है तुम्हें उसी कार्य को दोबारा करना

चाहिए क्योंकि बार-बार प्रयास करके ही तुम

सफल हो सकते हो केवल कुछ बार प्रयास करने

से ही तुम्हारी असफलता तुम्हारे जीवन को

निर्धारित नहीं कर सकती तुम्हें उस कार्य

को दोबारा शुरू करना चाहिए जिसमें तुम

असफल हो रहे

हो तुम उस कार्य को बार-बार करो जिस कार्य

में तुम्हें असफलता मिल रही है हार मत

मानो तुम्हें कभी ना कभी सफलता जरूर

मिलेगी क्योंकि हार के बाद ही जीत आती है

और उस जीत को हासिल करने के लिए तुम्हें

अपने मन को मजबूत करना होगा और अपने जीवन

को पूर्ण विश्वास के साथ उस कार्य को पूरा

करना

होगा तुम अपने मन से इस डर को हटा दो कि

तुमसे नहीं हो पाएगा क्योंकि तुम्हारा मन

ही है जो तुम्हें हर वह चीज प्राप्त करा

सकता है जिस चीज की तुम कल्पना करते हो

परंतु उसके लिए तुम्हें अपने मन के डर को

हटाना आवश्यक है क्योंकि डर तुम्हें आगे

बढ़ाने से रोकता है मैं जानती हूं तुमने

हिम्मत खो दी है और मैं तुम्हारे भीतर वह

हिम्मत जगाना चाहती हूं जिसे तुम खो चुके

हो तुम्हारे अंदर दोबारा से वह हिम्मत

जगाना बहुत आवश्यक है क्योंकि उसी हिम्मत

से तुम्हें सफलता प्राप्त

होगी मैं देख रही हूं तुम्हारे जीवन में

संतुलन बिल्कुल भी नहीं है तुम हर चीज

अपने जीवन में असंतुलित कर रहे हो परंतु

स्वयं पर ध्यान नहीं दे रहे हो अपने आप को

एक बार आईने में देखो तुमने अपनी हालत

कैसी बना रखी है जीवन मैंने तुम्हें इसलिए

दिया है ताकि तुम इस जीवन में सबका सम्मान

करो आदर करो यदि तुम भी कुछ सम्मान पाना

चाहते हो तो दूसरों का सम्मान करना अति

आवश्यक है जीवन में आत्मविश्वास बनाए रखना

क्योंकि आत्मविश्वास एक ऐसी शक्ति है जो

इंसान को किसी भी मुसीबत में हारने नहीं

देती और जीवन में चाहे कुछ भी कार्य करना

लेकिन कभी भी अपने आत्म सम्मान को चोट मत

पहुंचाना क्योंकि हमारे शरीर पर लगी चोट

तो फिर भी हम भुला सकते हैं लेकिन हमारे

सम्मान को यदि ठेस पहुंचती है तो हम वह

जिंदगी भर नहीं बुला सकते हैं कई बार हम

जीवन में जल्दी सफलता पाना चाहते हैं और

सुख संपत्ति चाहते हैं तुम छोटे मार्ग का

चयन कर लेते हो जिसमें परिश्रम नहीं करना

होता है जिसमें छल कुटिलता भाग्य का सहारा

जैसे कि जुआ जुए के खेल में धन लगाना फिर

मनुष्य यह भूल जाता है कि जुआ एक ऐसा दलदल

है जिसमें यदि एक बार इंसान गिर जाता है

तो उसका अंत होना निश्चित है क्योंकि यदि

आप इस खेल में जीत जाते हैं तो जीतने की

भूख और बढ़ जाती है और आप उसे दोबारा

खेलने के लिए फिर से अपना सारा पैसा उसमें

लगा देते हैं

ऐसा करने से आप अपने सारे जीवन की सुख

संपत्ति चयन सब कुछ दाव पर लगा देते हैं

और यदि आप हार जाते हैं तो आप जीवन की सभी

चीजों को खो देते हैं आज के मेरे संदेश

में तुम्हें यह ज्ञात होगा कि तुम्हें कौन

से ऐसे कार्य करने हैं जिन्हें करने से

तुम्हारे जीवन में निश्चित तौर पर बदलाव

होंगे बस तुम्हें आज मेरी कुछ बातों को

नना है और यदि तुम मुझे मानते हो तो

तुम्हें उसका फल अवश्य प्राप्त

होगा मैं तुम्हारे द्वार पर सदा ही आती

हूं और सदा ही खाली हाथ लौट जाती हूं और

आज मैं तुम्हारे द्वार पर फिर खड़ी हूं और

फिर यदि मैं खाली हाथ चली गई तो मेरे

बच्चे इससे बड़ा अपमान मेरा और क्या होगा

कि तुम मुझे बार-बार खाली हाथ लौटा देते

हो मेरे बच्चे यदि तुम मुझ पर विश्वास

करोगे तो अपने जीवन में सफलता की सीढ़ी

चढ़ सकते हो और तुम यह देखो कि यदि

तुम्हें मुझ पर विश्वास है या नहीं यदि

तुम मुझ पर विश्वास करोगे तो सफलता की

सीढ़ी तुम्हारा इंतजार कर रही

है तुम्हें अपने जीवन में सबसे पहले यह

समझना है कि तुम्हारे लिए सबसे मह पूण

कार्य कौन से हैं जिसे तुम्हें अपने जीवन

में उन कार्यों को यदि पूरा नहीं करोगे तो

तुम कभी आगे नहीं बढ़ सकते जीवन क्या है

यह जानना तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है

क्योंकि जीवन भगवान की देन है और यह बहुत

सुंदर रचना है यहां सुख और दुख दोनों ही

भोगे जाते हैं लेकिन तुम्हें हर हाल में

संयम बनाए रखना है

मैं जानती हूं इस समय जो तुम्हारे हालात

चल रहे हैं तुम उन सबसे बाहर आना चाहते हो

तुम्हारा मन इन हालातों से काफी विचलित हो

चुका

है इसका कारण जीवन में आ रही समस्याएं हैं

जिनका तुम लगातार सामना कर रहे हो परंतु

मैंने आज तक तुम्हें जितनी भी बातें बताने

का प्रयास किया है तुमने उनमें से किसी का

भी पालन ठीक प्रकार से नहीं किया

है तुमसे पूछना चाहती हूं जब तुम मेरी

बातों का ठीक प्रकार से पालन नहीं करोगे

तो क्या तुम अपनी परेशानियों से बाहर निकल

सकते हो तुम्हारी माता हर बार आकर तुम्हें

एक नया संदेश देती हैं परंतु उसके बावजूद

भी तुम मेरी बातों को अनदेखा कर देते

हो तुम्हारे जीवन में अच्छे दिन आने वाले

हैं जिन्हें तुम कभी भुला नहीं पाओगे इतनी

खुशिया मैं तुम्हें दूंगी जो तुमने कभी

सपने में भी सोचा नहीं होगा बस तुम्हें

अपनी माता पर विश्वास रखना

है और खुद पर भी अपने परिवार के साथ अपने

जीवन को जो तुमने सादगी से जिया है उसको

देखकर मैं हैरान हो गई हूं मुझे तुम्हारे

जीवन की बहुत चिंता है और मैं यह भी जानती

हूं कि तुम अपने जीवन को लेकर बहुत चिंतित

हो लेकिन तुमने कभी भी किसी को यह बात

जाहिर नहीं की

है अब मैं अपने धाम वापस जाना चाहती ह

किंतु यह याद रखना मेरा यह संदेश तुम्हारे

जीवन के उन सभी पहलू पर था जो तुम्हें आज

तक समझ नहीं आया यदि तुम मेरा यह संदेश

समझोगे तो तुम जीवन में सफल होते जाओगे

मेरा आशीर्वाद

[संगीत]

i

[संगीत]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *