ऐसे गुण वाले व्यक्ति होते हैं माँ काली को अति प्रिय..?? - Kabrau Mogal Dham

ऐसे गुण वाले व्यक्ति होते हैं माँ काली को अति प्रिय..??

कि ने जमा काली मित्रों आपका मेरे चैनल

मां काली मां दुर्गा शक्ति सम्मान में

स्वागत है मित्रों अगर आप मेरे चैनल पर नए

हैं तो मेरे चैनल को सब्सक्राइब कीजिए

लाइक कीजिए शेयर कीजिए ताकि नोटिफिकेशन

वालों को भी प्रेस कीजिए जिससे मेरे आने

वाली वीडियोस का नोटिफिकेशन आपको तुरंत

मिल जाए

मां काली

ममतामई है मां है वह अपने सभी बच्चों से

प्रेम करती हैं अपने सभी भक्तों से प्रेम

करती हैं लेकिन मां की एक बात होती है वह

अपने सभी पुत्रों से अपनी पुत्रियों से

प्रेम करती है अपनी सभी संतानों से प्रेम

करती है लेकिन कुछ व्यक्ति ऐसे होते हैं

कुछ पुत्र ऐसे होते हैं मां के जिनको अधिक

प्रेम करती है उनके अंदर कुछ विशेष गुण

होते हैं जिस कारण से मांगो अधिक प्रेम

करती हैं तो मित्रों ऐसे ही कुछ बूंदें

ऐसे ही कुछ विशेषताएं जिन व्यक्तियों में

होती है मां उनको अधिक प्रेम करती है और

वह मां के अधिक प्रिय होते हैं जो मैं

आपको इस वीडियो में बताऊंगी तो इसलिए आप

वीडियो को एंड तक सुनना ताकि आपको सारी

बात समझ में आ

MP कि मित्रों मां काली एक ऐसी प्रचंड

शक्ति है कि जिन का वर्णन अश्लील नहीं कर

सकते तो उनकी शक्ति का वर्णन करने में

समर्थ नहीं हैं लेकिन उनका प्रेम है अपनी

संतान के प्रति प्रेम का भाव है उसका

वर्णन हम अवश्य कर सकते हैं क्योंकि मां

काली का रूप धारण करती हैं वहीं मां रूप

धारण करके अपनी संतान को

और उनकी रक्षा

तंत्र मंत्र से ऊपर की ओर से मां भगवती की

रक्षा करती तो इसी प्रकार से अगर जो

व्यक्ति को पाना चाहते हैं मां काली को

चाहते हैं कि उनको अपना लें क्योंकि मां

भगवती महाकाली

सकती हैं

है जो सबको आकर्षित करती हैं लेकिन मां को

पाना हर किसी के वश की बात नहीं होती

क्योंकि मां को जो विशेषताएं पसंद होती है

वह हर कोई व्यक्ति अपने अंदर बड़ी मुश्किल

से चल पाता है लेकिन जो ला पाता है उसको

मां अथाह प्रेम देती है अर्थात शक्ति

प्रदान करती हैं जैसे कि आप सभी जानते हैं

कि सभी देवताओं की अपनी अलग विशेषता है हम

अलग-अलग देवी-देवताओं की पूजा करते हैं तो

हमें उसका अलग अलग फल प्राप्त होता है जिस

प्रकार से हम मां दुर्गा की पूजा करती है

तो वह अमित सुख और समृद्धि प्रदान करती

हैं अगर हम गणेश जी की पूजा कर दिया तो वह

में बुद्धि प्रदान करते हैं

अगर हम मां काली की पूजा करते हैं तो वह

में शक्ति प्रदान करती हैं यानी शक्ति

हेतु हम मां काली की पूजा करते हैं तो मां

का लिए कहती हैं कि कुछ ऐसे व्यक्ति होते

हैं जो मुझे बेहद प्रिय होते हैं और

जिनमें कुछ विशिष्ट गुण होते हैं तो उनमें

से जो सबसे पहला गुण होता है जो व्यक्ति

मां काली की नियमित पूजा करते हैं मां की

नियमित सेवा प्रा शुरू करते हैं ऐसे

व्यक्तियों को मां विशेष रूप से पसंद करती

हैं और वह मां के प्रिय होते हैं क्योंकि

मां के प्रति प्रेम का भाव सबसे उत्तम

होता है और सबसे पहली चीज ही मां के प्रति

प्रेम का भाव होता है और अगर आपके मन में

मां के प्रति संपूर्ण समर्पण है आप अपना

समर्पण मां भगवती के चरणों में कर देते

हैं और कहते हैं किमाम में आपको एक अबोध

बालक हूं और आपके सिवा में किसी को नहीं

जानता नहीं मैं कोई विधि-विधान तांता हूं

तो इस प्रकार का अगस्त आपके अंदर समर्पण

का अभाव है तो आपको यह जान लेना चाहिए कि

मां काली आपको विशेष प्रेम करती है और मां

के आप प्रिय पुत्र हैं या पुत्री हैं

कि जो लोग हनुमान जी की पूजा करते हैं जो

लोग भैरव की पूजा करते हैं तो ऐसे व्यक्ति

को मां काली बहुत पसंद करती हैं वह मां

काली की प्रिय होते हैं क्योंकि हनुमान और

भैरव जी मां काली के पुत्र वधू है मां

काली के गुण हैं जब मां काली चलती हैं तो

हनुमान जी आगे चलते हैं और भेरुजी पुष्पि

चलते हैं लेकिन वह उसी की यह बात है अगर

आप भैरव जी को प्रसन्न करना चाहते हैं

भैरव जी की पूजा करना चाहते हैं या घर में

उनकी पूजा करना चाहते हैं तो आपको भैरव जी

के इस रूप में शुरू की पूजा करनी चाहिए जो

कि है बटुक भैरव जी का उसमें आप बहुत ही

सरलता से भैरव जी को प्रसन्न कर सकते हैं

काल भैरव की पूजा कभी भी घर में नहीं करनी

चाहिए क्योंकि यह भेरुजी का रोद्र रूप है

और इनकी पूजा श्मशान में की जाती है या

जिन मंदिरों में की जाती है तो केवल वह

मंदिरों में ही की जाती है घर पर नहीं की

जाती है और भैरव जी काल भैरव जी मदिरा का

पान करते हैं तो ऐसी परिस्थिति में

गृहस्थी उनकी पूजा घर में नहीं कर सकते

हैं

पीली अगर आप हनुमान और भैरव जी की पूजा

करते हैं तो आपके सभी कार्य फिल्म बनने

लगते हैं

कि जिन आंखों के अंदर क्रोध नहीं आता जिन

व्यक्तियों के अंदर अंधकार नहीं रहता था

है और अहंकार नहीं रहता क्योंकि जहां

क्रोध होता है वह बेकार होता है क्योंकि

कहते हैं क्रोध अंधकार के समान होता है और

जिस व्यक्ति को क्रोध आता है तो वह अंधा

हो जाता है उसको कुछ दिखाई नहीं देता तो

ऐसे व्यक्ति कभी मां काली को नहीं पा सकती

है क्रोध के चश्मे से आप मां काली को

देखेंगे तो मां काली आपको कभी नजर नहीं

आएगी

हैं और जिन व्यक्तियों के अंदर अहंकार

होगा वह भी कभी मां काली को नहीं देख

पाएंगे ऐसे व्यक्ति को मां काली बिल्कुल

पसंद नहीं करती हैं और मां काली को वह कभी

प्राप्त नहीं कर सकते लेकिन जिनके अंदर

क्रोध नहीं होता अहम की भावना नहीं होती

जिनके अंदर मैं नहीं होती है क्योंकि मां

के चरणों में अगर हमें समर्पण करना है अगर

हमें किसी चीज की बलि देनी है तो वह मैं

होती है क्योंकि मैं करने वाली की बलि ही

मां के चरणों में चढ़ाई जाती है

लुटेरा जैसी परिस्थिति में जिनके अंदर

क्रोध नहीं होता अंतर नहीं होता ऐसे

व्यक्ति मां काली को बेहद पसंद होते हैं

जो व्यक्ति स्त्रियों का सम्मान करते हैं

स्त्रियों के प्रति आदर भाव रखते हैं ऐसे

व्यक्ति मां काली के प्रिय होते हैं

क्योंकि इस तरह शक्ति का स्वरूप होती हैं

स्त्रियां लक्ष्मी स्वरूप होती हैं और जिस

घर में स्त्रियों का आधा होता है वहां पर

शक्ति भी निवास करती हैं वहां पर लक्ष्मी

निवास करती है तो ऐसी परिस्थिति में मां

काली ऐसे व्यक्ति को बहुत ही पसंद करती है

मां काली के प्रिय होते हैं वह व्यक्ति जो

स्त्रियों का सम्मान करते हैं

कि जिन व्यक्तियों के अंदर शर्मा की भावना

होती है जिन व्यक्तियों के अंदर जीवों के

प्रति प्रेम की भावना और जिन व्यक्तियों

में

ऐसे व्यक्ति मां काली की बेहद प्रिय होते

हैं क्योंकि चमक की जो होती है वह

देवस्वरूप

दिव्य गुण होता है जब आप

करना हर किसी के बस की बात नहीं होती हर

कोई व्यक्ति

इसलिए उस व्यक्ति जानते हैं जो व्यक्ति

प्रेम करना जानते हैं के प्रति प्रकृति के

प्रति व्यक्ति के होते हैं क्योंकि मां

प्रकृति स्वरूपा घट में निवास करती हैं

पत्ते-पत्ते में निवास करती हैं में निवास

करती हैं

कि जिन व्यक्तियों उम्र की मन में दया का

भाव होता है जीवो के प्रति दया भाव होता

मां काली ने बहुत पसंद करती है

कि जो व्यक्ति शिव भक्त भगवान शिव की

अराधना करते हैं भगवान शिव की पूजा करते

हैं वह व्यक्ति भी मांग यह बहुत ही प्रिय

होते हैं क्योंकि मां भगवती महाकाली SIM

जो है भगवान शिव की आराधना करती हैं मां

काली भगवान शिव पत्नी है और मां काली

हमेशा भगवान शिव के प्रति नतमस्तक रहते

हैं इसलिए जो व्यक्ति शिव भक्त हैं मां

काली उन्हें बहुत पसंद करती है और वह मां

के प्रिय होते हैं

जो व्यक्ति मां दुर्गा की आराधना करते हैं

वह भी मां के प्रिय होते हैं क्योंकि मां

दुर्गा का ही जो रुद्रस्वरूप है वह मकान

दिए लेकिन दोनों की प्रकृति बिल्कुल भिन्न

है

कि मां काली अगर

कि सूर्य के समान है

कि तुम मां दुर्गा और मां काली दोनों में

यह अंतर है कि मां दुर्गा अगर सूर्य के

समान है तो मां काली अधिकार स्वरूप है

मैं तो इतना बड़ा अंतर अमरपाली और मां

दुर्गा मैप

कि जिन व्यक्तियों की अंदर मन की शुद्धता

होती है यानि जिनका मन पवित्र होता है और

जिनके विचारों में शुद्धता होती है यानि

वह किसी के प्रति कोई ग़लत भावना नहीं

रखते हैं तो ऐसे व्यक्ति भी मां काली के

व्यक्ति होते हैं

ए पी कुछ ऐसे गुण होते हैं कुछ ऐसी

प्रकृति होती है अगर जो यह गुण और प्रकृति

उन व्यक्ति में होती है तो वह सभी मां

काली के प्रिय होते हैं क्योंकि मां काली

को एक ऐसा व्यक्ति पसंद है जो अबोध बालक

की तरह होता है जिसका समर्पण एक अबोध बालक

का की तरह अपनी मां के प्रति होता है जैसा

बालक कुछ नहीं जानता केवल अपनी मां पर

निर्भर रहता है उसी प्रकार से कोई भक्त

अगर मां के प्रति निर्भर रहता है मां के

ऊपर ही निर्भर रहता है तो ऐसे व्यक्तियों

को मां काली बहुत पसंद करती हैं तो मित्रो

यह थी छोटी सी जानकारी आप सभी के लिए अगर

आपके अंदर यह विशेष गुण है तो यह याद रखना

कि आप मां काली के प्रति हैं लेकिन मैं

फिर भी आपको एक बात करूंगी कुछ व्यक्ति

ऐसे होते हैं जिनका दुख कभी खत्म नहीं

होता है वह मां को पुकारते रहते हैं तो

ऐसा लगता है कि मैं हमें कभी हमारी सुनती

नहीं है मां कभी हमारी बात जानू नहीं पाती

है लेकिन मां काली सब की सुनती है लेकिन

समय आने में भी समय लगता है जब मैंने जो

दिन निश्चित किया है आपके लिए जो आधुनिक

उद्धार करना है तो जैनुद्दीन आइडिया आप

अवश्य उद्धार करेंगे आप की पुकार पर वह

जरूर आएंगे

कि तुम मित्रों मां भगवती से यही

प्रार्थना करती हूं कि वह आपके भंडार

इमरती रहिए आपकी सभी मनोकामनाओं को पूर्ण

कर दे रहे आपसे फिर मिलूंगी अपने अगले

विडियो में तब तक के लिए जय महाकाली जय

महाकाल की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *