आज नवरात्रि के सातवें दिन माँ कालरात्रि की चमत्कारी कथा सुनने से सभी कष्ट, विपत्तियों का नाश होता है - Kabrau Mogal Dham

आज नवरात्रि के सातवें दिन माँ कालरात्रि की चमत्कारी कथा सुनने से सभी कष्ट, विपत्तियों का नाश होता है

[संगीत]

[संगीत]

हम रद्र रूप काल रात्रि मां की कथा सुनाते हैं हम महिमा गाते हैं काल रात्रि मैया का

हम वृतांत सुनाते हैं हम कथा सुनाते

हैं रक्त बीज का कैसे हुआ था अंत दिखाते

हैं हम कथा सुनाते हैं असुर नाशिनी काल

रात्रि की महिमा गाते हैं हम कथा सुनाते

हैं काल रात्र कथा महान कर भक्तों का

कल्याण कर भक्तों का कल्याण कालरात्रि कथा

महा काल रूप उज्वल है नैना भव्य रूप

विकन हाथ मिथा में खड़ग ख पर मैया लगती है

विशाल नवरात्रों का दिन है सातवा काल रात्रि के

नाम काल रात्रि मां के पूजन से बनते हैं हर काम कालरात्रि मां के भक्तों को मिले

जीत ही जीत कालरात्रि मैया को अपने भक्तों

से है प्रीत काल रात्रि माता का भक्तो श्याम वण

है रूप मुख मंडल पर सूर्य की आभा लगता रूप

अनूप सुनो ध्यान से कालरात्रि का वर्णन गाते हैं हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि

मैया का हम वृतांत बताते हैं हम कथा

सुनाते हैं काल रात्रि कथा महान कर भक्तों का कल्याण कर भक्तों का

कल्याण काल रात्रि कथा

[संगीत]

महान जन्मा एक महात पाति रक्त बीज

शैतान अपने बल और शक्ति पे था उसे बड़ा

अभिमान रक्त बीज का वध कर पाना नहीं था

आसान मिला हुआ था रक्त बीच को कुछ ऐसा

वरदान उसके रक्त की बूंद अगर धरती पे गिर

जाती नई छवि रक्त बीज की फिर से बन

जाती रक्त बीज का रक्त निकल करर धरा पे जब

ता एक नया रक्त बीज भक्तों फिर से वहां

बनता रक्त बीज का अंत हुआ कैसे बतलाते हैं

हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि माता का हम वृतांत बताते

हैं हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि कथा

महान कर भक्तों का कल्याण करे भक्तों का कल्याण काल रात्रि कथा

महान सहमे सहमे देव सभी आए शंकर जी के

पास हाथ जोड़ के करते हैं शिवशंकर से

अरदास हे शिवशंकर हे त्रिपुरारी बचा लीजिए

प्राण पीछे पड़ा है हम देवों के रक्त बीज

शैतान शरण आपकी हम आए हैं हे शिव

भोलेनाथ सर पे हमारे रख दो भोले दानी दया का हाथ सब देवों का हाल देख के भोले

मुस्काते बीज से मुक्ति मिलेगी ठहर बंधा

हैं आ गई सबके चेहरे पे मुस्कान दिखाते

हैं हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि माता का

हम वृतांत बताते हैं हम कथा सुनाते हैं

काल रात्रि कथा महान करे भक्तों का कल्याण

कर भक्तों का कल्याण काल रात्रि कथा

[संगीत]

महान शिव शंकर जी जाते हैं फिर पार्वती के

पास रक्त बीज का पार्वती ही कर सकती है

नाश शिव शंकर जी पार्वती से करते हैं अनुरोध

सिवा तुम्हारे और किसी में नहीं है इतना

बोध तुमको करना है हे देवी रक्त बीज का

अंत स्वर्ग लोक में सभी देवता व्याकुल है

अत्यंत आंख मूंद के फिर देवी ने किया शक्ति का ध्यान क्षणिक देर में गायब हो हो

गई चेहरे से मुस्कान काल रात्रि उत्पन्न हो गई यह

बतलाते हैं हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि

माता का हम वृतांत बताते हैं हम कथा

सुनाते हैं काल रात्रि कथा महान कर भक्तों

का कल्याण कर भक्तों का कल्याण काल

कथा

महा श्यामल तन लट स्याह से काली धरा रूप

विक्र काल रात्रि बन जाती है रक्त बीज का

काल बन रण चंडी चली है माता रक्त बी की ओर

बादल गरजे बिजली चमके करे आंधियां शोर अंबर हिला धरा धराई मच गया

हाहाकार मार मार किलकार दैत्य को माता रही

ललकार हुआ सामना रक्त बीज से भक्तो सुनो जिस पल सत्य है ये ब्रह्मांड में सारे

होने लगी हलचल चल युद्ध विलक्षण छिड़ गया भक्तों सत्य बताते हैं हम कथा सुनाते हैं

काल रात्रि माता का हम वृतांत बताते हैं

हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि कथा महान

करे भक्तों का कल्याण करे भक्तों का कल्याण काल रात्रि कथा महान

[संगीत]

गर्दन कट गई रक्त बीज की हुआ वो लहू लुहान करने लगी जीवा से मां उसके रक्त का

पान रक्त बीज का रक्त पी गई काल रात्री

मां एक बूंद भी रक्त ना गिरने दिया वहां पर मा रक्त पिशाच नी बन गई माता रक्त से

हो गई लाल आ गया तीनों लोक में जैसे बहुत

बड़ा भूचाल रक्त प्यासे बन गई माता कौन बुझाए

प्यास तब देवों ने मिलके करी थी मैया से

अरदास तब दे ने मिलकर के क्या किया बताते

हैं हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि माता का

हम वृतांत बताते हैं हम कथा सुनाते हैं

काल रात्रि कथा महान कर भक्तों का कल्याण

कर भक्तों का कल्याण काल रात्रि कथा

महान

क्रोध शांत हो कैसे मां का चिंता रही सताए सब मिलकर के शिव शंकर के पास भक्तों

फिर जाए सारी बात बताए शिव को आप ही करो

उपाय कुछ तो करो आप ही उनका क्रोध शांत हो

जाए शिव शंकर जी तुरंत वहां से उठकर जाते

हैं माता के रास्ते में आके लेट वो जाते

हैं पवन वेग से चल रही माता हो कर के

मदहोश शिव की छाती पे पांव पड़ गया तब आया

उन्हें होश हाथ जोड़ सुखदेव मैया को शीष

नवाते हैं हम कथा सुनाते हैं काल रात्रि

माता का हम वृतांत बताते हैं हम कथा

सुनाते हैं काल रात्रि कथा महान करे

भक्तों का कल्याण करे भक्तों का कल्याण

काल रात्रि कथा महा हम रोत्र रूप काल रात्रि मां की कथा सुनाते हैं हम महिमा

गाते हैं कालरात्रि मैया का हम वृतांत

सुनाते हैं हम कथा सुनाते हैं रक्त बीज का कैसे हुआ था अंत दिखाते

हैं हम कथा सुनाते हैं असुर नाशिनी

कालरात्रि की महिमा गाते हैं हम कथा सुनाते

काल रात्रि कथा महान करे भक्तों का कल्याण

करे भक्तों का कल्याण काल रात्रि कथा महान

काल रात्रि कथा महान कर भक्तों का कल्याण

कर भक्तों का कल्याण काल रात्रि कथा

[संगीत] महान [संगीत]

या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूमेश काल रात्रि रू ण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्ये नम तस्य नमो

नमः [संगीत] नमस्तस्ये नमस तस्य नमो

नमः या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता जञा देवी सर्व

[संगीत]

भू या देवी सर्वभूतेषु

या देवी सर्व भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः नम तस्य

[संगीत]

नमस्तस्ये सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व भू

[संगीत] यशु

या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः

[संगीत] नमस्तस्ये

[संगीत] नमस्तस्ये

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज्ाा देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

या देवी सर्व भूति शु या देवी सर्व भूति

काल रात्रि रूपण संस्थिता या देवी सर्व भू

केश काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत] नमस्तस्ए से नमो

नमः या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भू

[संगीत]

केशु या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्व भूतेश्वर

काल रात्रि रूपण संस्थिता या देवी सर्व

भूमेश काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ए नमो नमः

नमस्तस्ये [संगीत]

नमस्तस्ये सर्व भूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संता या देवी सर्व भूते

[संगीत]

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूते काल रात्रि रूपण संस्

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः [संगीत]

नमस्तस्ये

नमस्तस्ये [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व [संगीत]

भूते या देवी सर्व भूति

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस [संगीत] नमस्तस्ये नमो

नमः या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व [संगीत]

भूद

[संगीत]

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूति

काल रात्रि रूपण संस्थिता [संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत] नमस्तस्ये नमो

नमः या देवी सर्वभूतेषु या दे देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व भूत

[संगीत]

येशु या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व भूते

काल रात्रि रूपण संस्थिता या देवी सर्व भू

केशु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्यै नमो नमः [संगीत]

नमस्तस्ए तस्य नमो नमः या देवी

सर्वभूतेषु या या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

जञा देवी सर्व [संगीत]

भूते [संगीत]

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूमेश काल रात्रि रूपण सं

स्थिता [संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः [संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत]

नमस्तस्ये सर्व भूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु का रा त्रि रूपण संस्थिता जञा देवी सर्व भू

[संगीत]

देशु या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व भूते शु काल

रात्रि रूपण सं स्थिता या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्ये नम तस्य नमो

नमः नमस्तस्ये [संगीत]

देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व [संगीत]

भू

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] तस्य

[संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत] नमस्तस्ये नमो नमः या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व भूते

[संगीत]

शु या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भू

काल रात्रि रूपण संस्थिता [संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत]

नमस्तस्ये नमस तस्य

नमस्तस्ये सर्वभूतेषु देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व भू [संगीत]

देश या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भू केश काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ए नमः [संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत] नमस्तस्ये नमः या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज् देवी [संगीत] सर्वभूतेषु

[संगीत]

या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूते काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भू केश काल रात्रि रूपण

स्थिता [संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः नमस्तस्ये

[संगीत] नमस्तस्ये नमो

नमः या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व [संगीत]

भूते या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूमेश काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्ये

[संगीत] नमस्तस्ये नमो नतस्य

नमस्तस्ये वि सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व [संगीत]

भूते

या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्यै नमो नमः [संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

जञा देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः नमस्तस्ये

[संगीत] नमस्तस्ये नमो नमः या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व भू [संगीत]

देशु या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूमेश कालरात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ए नमो नमः नमस्तस्ये

नमस्तस्ये नमस्तस्ये नमः या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

जञा देवी सर्व पूश

[संगीत]

या देवी सर्व भूते शु या देवी सर्व भूते श

काल रात्रि रूपण संस्थिता माया देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः [संगीत]

नमस्तस्ये

नमस्तस्ये स सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्ये नम तस्य नमो नमः

[संगीत]

नमस्तस्ये सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व [संगीत]

भू [संगीत]

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूतेश्वर काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः [संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत]

नमस्तस्ये सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता जञा देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व भूतेषु

काल रात्रि रूपण संस्थिता या देवी सर्व भू

केश काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्ये [संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत] नमस्तस्ये

नमो नमः या देवी सर्व

भूतेषु या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व [संगीत]

भूते

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भू केश काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः [संगीत]

नमस्तस्ये नमस्तस्ये नमो नमः या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु

कालरात्रि रूपण संस्थिता ज्ञा देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

या देवी सर्वभूतेषु या देवी सर्व भूतेश्वर

काल रात्रि रूपण संस्थिता या देवी सर्व

भूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः नमस्तस्ये

[संगीत] नमस्तस्ये नमो

नमः या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व [संगीत]

भूते या देवी

[संगीत] सर्वभूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूमेश काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्यै

[संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत] नमस्तस्ये नमो

नमः या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व भू [संगीत]

देश या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूति काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्ये

[संगीत] नमस्तस्ये नमः [संगीत]

नमस्तस्ये नमो नमः या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

जञा देवी सर्व [संगीत]

भूते या [संगीत] सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूति कालरात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत]

नमस्तस्ए [संगीत]

नमस्तस्ये [संगीत]

नमस्तस्ये वि सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

ज्ञ देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

या देवी सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व भूते काल रात्रि रूपण संस्

[संगीत] नमस्तस्ये

[संगीत]

नमस्तस्ये नमस्तस्ये

नमस्तस्ये सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल त्रि रूपण संस्थिता

ज देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

या देवी [संगीत] सर्वभूतेषु या दे देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु कालरात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] नमस्तस्ये

[संगीत]

नमस्तस्ये नम [संगीत]

नमस्तस्ये सर्व भूतेषु या देवी सर्व

भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्व [संगीत]

भूते या देवी

सर्वभूतेषु या देवी सर्व भूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

या देवी सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

[संगीत] तस नमस तस्य नमो

नमः नमस तस्य [संगीत]

नमस्तस्ये वि सर्वभूतेषु या देवी

सर्वभूतेषु काल रात्रि रूपण संस्थिता

याद देवी सर्व भूतेश्वर

[संगीत]

जय काल रात्रि माता ज काल रात्र

माता धन व भव समृद्धि धन व भव

समृद्धि तुम सबकी दाता जय काल रात्रि

माता जय काल रात्रि माता जय काल रात्रि

माता धन वैभव समृद्धि धन वैभव

समृद्धि तुम सबकी दाता जय काल रात्रि

[संगीत] माता रूप

भयंकर तेरा शक महामाई

तेरी शक्ति महा माही छवि खत तुम्हारी छवि

रखते तुम्हारी काल भी डर

जाई जय काल रात्रि

माता भूत प्र और दानव निकट नहीं

आते यह निकट नहीं आते खड़ग कतार के आगे खड़ग कतार के आगे

शत्रु नटक पाते जय काल रात्रि

माता [संगीत] गर धव वाहिनी मैया कृपा दृष्टि की

जय मा कृपा दृष्टि की जय निर्मल कोमा

शक्ति निर्मल कोमा शक्ति अपनी शरण

दीज जय कालरा अपी

माता नव दुर्गा में भवानी सातव तेरा

स्थान मा सातवा तेरा स्थान

मया काली महामाया महाकाली शक्ति तेरी

महान जय काल रात्रि

[संगीत] माता सातवी

नवरात्री को मां तुम पूजी

जाती मां तुम पूजी जाती मनवा चित फल देती मनवा छित फन देती

तुम सबकी दाती जय काल रात्रि

माता हे प्रचंड जवाला मई हम पे दया

करना मां हम पे दया कर

जानक सेवक अपना जानक सेवक अपना दुख विपदा

हरना जय काल रात्रि

[संगीत] माता चिंता हरना दाती काल करोना

मा काल करेना मा विनती इतनी सी मा विनती

इतनी स मा कर लेना

शीता जय काल रात्रि

माता नि कर आस शरण में तेरी हम

आए मा तेरी हम आए सुना है खाली दर से सुना है खाली दर से

ना कोई जाए जय काल रा

माता जय काल रात्रि माता जय काल रात्रि

माता धन वैभव समृद्धि धन वैभव

समृद्धि तुम सबकी दाता जय काल रात्र

[संगीत] माता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *